आइजोल: मिजोरम पुलिस (Mizoram Police) ने कोलासिब जिले के वैरेंगते नगर के बाहरी हिस्से में हुई हिंसा के मामले में असम (Assasm) के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा (Himanta Biswa Sarma,), राज्य पुलिस के चार वरिष्ठ अधिकारियों और अन्य अधिकारियों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज किए हैं.

पुलिस ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. मिजोरम पुलिस महानिरीक्षक (HQ) जॉन एन के मुताबिक इन लोगों के खिलाफ हत्या का प्रयास और आपराधिक साजिश समेत अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया गया है.

असम पुलिस के 200 जवानों पर FIR
उन्होंने कहा कि सीमांत नगर के पास मिजोरम और असम पुलिस बल के बीच हिंसक झड़प के बाद सोमवार देर रात मिजोरम पुलिस ने वैरेंगते थाने में FIR दर्ज की थी. इस दौरान असम पुलिस के 200 अज्ञात कर्मियों के खिलाफ भी मामले दर्ज हुए थे.


मिजोरम के अधिकारियों को नोटिस
इस बीच मिजोरम के कुछ अधिकारियों के खिलाफ असम प्रशासन ने नोटिस जारी किए थे. असम पुलिस के एक सूत्र ने शुक्रवार को कहा कि इन अधिकारियों को 28 जुलाई को समन जारी किये गये थे. इससे पहले कछार जिले के लैलापुर में असम और मिजोरम पुलिस बलों के बीच खूनी संघर्ष हुआ था, जिसमें असम पुलिस के पांच कर्मी और एक निवासी की मौत हो गई थी जबकि 50 से अधिक अन्य घायल हो गए थे. इस मामले के संबंध में एक मामला धोलाई पुलिस थाने में दर्ज है.

मिजोरम के अधिकारियों को नोटिस
इस बीच मिजोरम के कुछ अधिकारियों के खिलाफ असम प्रशासन ने नोटिस जारी किए थे. असम पुलिस के एक सूत्र ने शुक्रवार को कहा कि इन अधिकारियों को 28 जुलाई को समन जारी किये गये थे. इससे पहले कछार जिले के लैलापुर में असम और मिजोरम पुलिस बलों के बीच खूनी संघर्ष हुआ था, जिसमें असम पुलिस के पांच कर्मी और एक निवासी की मौत हो गई थी जबकि 50 से अधिक अन्य घायल हो गए थे. इस मामले के संबंध में एक मामला धोलाई पुलिस थाने में दर्ज है.कछार के पुलिस उपाधीक्षक कल्याण कुमार दास द्वारा सभी अधिकारियों को जारी अलग-अलग समन में कहा गया, ' एक उचित और विश्वसनीय जानकारी प्राप्त हुई है कि आपने गंभीर अपराध किया है.' इस बारे में संपर्क करने पर कछार पुलिस अधीक्षक रमनदीप कौर ने समन के बारे में पुष्टि की लेकिन और आनकारी देने से इंकार कर दिया.