हिंदू मान्यताओं के अनुसार जिन घरों में तुलसी का पौधा होता है, वहां सभी देवी-देवताओं की कृपा बनी रहती है, जो घर में सुख-शांति लाती है। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा के अनुसार तुलसी पूजनीय और पवित्र पौधा है। ज्योतिष में तुलसी के उपाय भी बताए गए हैं। इन उपायों से कुंडली के दोष और दुर्भाग्य से बचा जा सकता है। जानिए तुलसी के ऐसे ही कुछ उपायों उपाय, बुरे समय को दूर किया जाता है...

पहला उपाय
हिन्दी पंचांग के अनुसार एक माह में दो एकादशी आती हैं। एक कृष्ण पक्ष में और दूसरी शुक्ल पक्ष में। इन दोनों एकादशियों पर भगवान विष्णु की विशेष पूजा करने के साथ ही तुलसी की भी पूजा करें। तुलसी की पूजा में दीपक जलाएं। सुहाग का सामान जैसे कुमकुम, आभूषण, बिंदी, चूड़ियां, लाल साड़ी या चुनरी आदि चीजें तुलसी को चढ़ाएं। कच्चा दूध, मिठाई का भोग लगाएं। पूजा के बाद ये चीजें किसी गरीब सुहागिन को दान करें। इस उपाय से दुर्भाग्य दूर हो सकता है और घर में सुख-समृद्धि बढ़ सकती है।

दूसरा उपाय
वास्तु शास्त्र के अनुसार तुलसी का गमला घर के आंगन में या छत पर रखने से घर के कई दोष दूर होते हैं। अगर संतान जिद्दी है तो तुलसी का गमला पूर्व दिशा में रखें और संतान से तुलसी की पूजा करवाएं। संतान को रोज तुलसी के पत्तों का सेवन करवाएं। इससे संतान का स्वभाव शांत हो सकता है।

तीसरा उपाय
रोज सुबह तुलसी को जल चढ़ाएं और शाम को तुलसी के पास दीपक जलाएं। इस उपाय से बुरा समय दूर हो सकता है।


चौथा उपाय
घर में बाल गोपाल को जब भी भोग लगाएं तो उसमें तुलसी के पत्ते जरूर डालें। अगर भोग में तुलसी के पत्ते नहीं डालेंगे तो भगवान भोग स्वीकार नहीं करते हैं।