बैकुण्ठपुर : ग्रामीण आजीविका मिशन बिहान से जुड़ी स्व सहायता समूह की महिलाओं के आर्थिक संबल के लिए कार्ययोजना बनाकर निरंतर कार्य उपलब्ध कराए जा रहे हैं। इसके तहत पौध नर्सरी के लिए पालिएस्टर बैग निर्माण के बाद अब उन्हे पचास हजार ट्री गार्ड बनाए जाने के कार्य अनुबंध मिल चुका है। एक ट्री गार्ड की कीमत लगभग 350 रूपए है जिससे आने वाले समय में जिले के लगभग 23 समूह से जुड़ी महिलाओं को 17 लाख रूपए से ज्यादा का सीधा व्यवसाय प्राप्त होगा। साथ ही उनके उत्पादों को बेहतर बाजार दिलाने के लिए कलेक्टर कोरिया श्री एस एन राठौर के मार्गदर्षन में नए स्थल भी चयनित किए जा रहे हैं। उक्ताषय की जानकारी देते हुए जिला पंचायत की मुख्यकार्यपालन अधिकारी तूलिका प्रजापति ने बताया कि जिले में महिलाओं के स्व सहायता समूहों की गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए उन्हे ट्री गार्ड निर्माण के कार्य में लगाया गया है। जिले के सभी जनपद पंचायतों में इस कार्य के इच्छुक सक्रिय समूहों को ट्री गार्ड निर्माण कार्य में लगाया गया है। क्लस्टर बनाकर महिलाएं अब ट्री गार्ड निर्माण कार्य कर रहीं हैं।
       जिला पंचायत सीइओ तूलिका प्रजापति ने बताया कि बैकुण्ठपुर  के ग्राम पंचायत बुड़ार में अनारदान स्व सहायता समूह, रटगा में मां लक्ष्मी समूह, जगतपुर में ष्ष्वेता समूह, ग्राम पंचायत मैको में चांदनी एवं महिला बचत समूह, ग्राम पंचायत पटना में एकता स्व सहायता समूह और ग्राम पंचायत पोटेड़ांड में जय मां संतोषी महिला स्व सहायता समूहों के द्वारा अब तक 4800 से ज्यादा ट्री गार्ड का निर्माण कर लिया गया है। साथ ही खड़गंवा के ग्राम पंचायत ठग्गांव मे कार्यरत कृष्णा स्व सहायता समूह की दीदीयों ने ट्री गार्ड बनाने का काम ष्षुरू कर दिया है। जिले के सुदूर वनांचल भरतपुर में चिड़ौला में सक्रिय साई राम समूह, माड़ीसरई के सीतामाई समूह, ग्राम पंचायत षेरी के मयूरी स्व सहायता समूह और ग्राम तरतोरा के दुर्गा स्व सहायता समूह द्वारा ट्री गार्ड बनाए जा रहे हैं। इसी तरह मनेन्द्रगढ़ जनपद अंतर्गत बौरीडांड के दो समूह मातारानी और जय मां संतोषी के द्वारा, केल्हारी के महामाया, मां अंबे और मां ष्षारदा महिला स्व सहायता समूहों के द्वारा ट्री गार्ड बनाने का कार्य किया जा रहा है। सोनहत के तंजरा में कार्यरत  ओम नमःषिवाय समूह और मां दुर्गा समूह के साथ कटगोड़ी के लक्ष्मी स्व सहायत समूह की महिलाओं के द्वारा ट्री गार्ड बनाए जा रहे हैं।
     जिला पंचायत सीइओ ने बताया कि महात्मा गांधी नरेगा के तहत ग्राम पंचायतों में होने वाले पौधरोपण की सुरक्षा के लिए 50  हजार ट्री गार्ड की मांग जनपदों के माध्यम से समूहों को दे दी गई है जिसमें से लगभग आधी संख्या के ट्री गार्ड समूह की महिलाओं के द्वारा बनाकर तैयार कर सप्लाई भी प्रारंभ कर दी गई है। जिला पंचायत की सीइओ ने बताया कि कलेक्टर कोरिया श्री राठौर के निर्देषानुसार महिलाओं के उत्पादों को बेहतर बाजार उपलब्ध कराने के लिए नए बाजार स्थल चयन किए जा रहे हैं। इसी कड़ी में झुमका बोट क्लब में भी आजीविका मिशन की महिलाओं के उत्पादों को बेचने के लिए कैनोपी लगाई गई है। साथ ही बैकुण्ठपुर नागपुर और मनेन्द्रगढ़ में बिहान हाट बाजार बनाए जाने की प्रक्रिया प्रारंभ की गई है।