वाशिंगटन । कोरोना से पूरी दुनिया बेहाल है, लेकिन इसकी कोई इलाज या दवा सामने नहीं आई है। विशेषज्ञों का मानना है कि वायरस पर सिर्फ वैक्सीन से ही काबू पाया जा सकता है। इस लेकर अलग-अलग देशों में ट्रायल जारी है। इस बीच दवा कंपनी एस्ट्राजेनेका ने कोरोना वैक्सीन को लेकर खुशखबरी दी है। ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के साथ पार्टनरशिप में विकसित की जा रही एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन अब तक के ट्रायल में सबसे बेहतर नतीजे दिए हैं।
रिपोर्ट के अनुसार दुनिया में अब तक एक भी कोरोना वैक्सीन को मंजूरी नहीं मिली है, मगर वैक्सीन बनाने की रेस में अब तक एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन को सबसे आगे माना जा रहा है। इसके शुरुआती ह्यूमन ट्रायल में बेहतर नतीजे सामने आए थे और यह पूरी तरह से न सिर्फ सुरक्षित है, बल्कि इसने इम्यून रिस्पॉन्स भी विकसित किया। अब वैक्सीन के तीसरे चरण का ह्यूमन ट्रायल चल रहा है। कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी पास्कल सोरियट ने कहा, 'वैक्सीन बनाने का काम तेजी से प्रगति पर है। वैक्सीन के परीक्षण को लेकर हमारे पास अब तक का अच्छा डेटा है। हमें क्लिनिकल ट्रायल में प्रभावकारिता दिखाने की जरूरत है, मगर अब तक की बात करें तो काफी अच्छे परिणाम आए हैं।' बता दें कि एस्ट्राजेनेका ब्रिटेन की सबसे वैल्यूएबल लिस्टेड कंपनी है।