भोपाल । मप्र माध्यमिक शिक्षा मंडल की बोर्ड परीक्षा में दो से लेकर सभी विषयों में असफल विद्यार्थी 14 जुलाई तक रुक जाना नहीं योजन के तहत आवेदन कर इस योजना का लाभ ले सकते हैं।  हाईस्कूल की बोर्ड परीक्षा में अनुत्तीर्ण रहे विद्यार्थी रुक जाना नहीं योजना के तहत परीक्षा देकर आगे की पढ़ाई जारी रख सकते हैं। इस योजना के तहत हर साल प्रथम चरण की परीक्षा जून में और दूसरे चरण की परीक्षा दिसंबर में ली जाती है। इस बार लॉकडाउन के कारण परीक्षा और रिजल्ट दोनों में देरी हुई है। दसवीं बोर्ड का परिणाम 4 जुलाई को घोषित किया गया। अभी बारहवीं बोर्ड का परिणाम जुलाई के तीसरे सप्ताह में आने की संभावना है। इस कारण रुक जाना नहीं के लिए आवेदन करने की तिथि बढ़ाई जा सकती है। मप्र राज्य मुक्त स्कूल शिक्षा बोर्ड की ओर से बोर्ड परीक्षा में अनुत्तीर्ण विद्यार्थियों के लिए 2016 में रुक जाना नहीं योजना शुरू की गई। इसमें फेल बच्चों को दो मौके मिलेंगे। विद्यार्थी चाहें तो एक साथ फेल होने वाले विषय के पेपर दें या फिर उसे दो बार में क्लियर कर लें। इस साल की परीक्षा अगस्त से शुरू होने की उम्मीद है। इसमें भाग लेने वाले विद्यार्थी एमपी ऑनलाइन के कियोस्क पर जाकर निर्धारित शुल्क जमा कर पंजीयन करा सकते हैं। बता दें कि इस साल दसवीं बोर्ड परीक्षा में 2 लाख 22 हजार 944 विद्यार्थी फेल हुए हैं। अधिकारियों का कहना है कि अभी 12वीं का परिणाम नहीं आया है। इसे देखते हुए रुक जाना नहीं योजना के लिए आवेदन करने की तिथि बढ़ाई जा सकती है। इसके बाद अगस्त के पहले सप्ताह में दोनों कक्षाओं की परीक्षा ली जाएगी। अगस्त के अंत तक परिणाम घोषित किया जाएगा। माध्यमिक शिक्षा मंडल ने अंकों की पुनर्गणना और उत्तर पुस्तिका की फोटो कॉपी लेने के लिए मोबाइल ऐप की सुविधा भी प्रदान की है। माशिमं का मोबाइल ऐप एमपीबीएसई गूगल प्ले स्टोर पर एमपीमोबाइल से नि:शुल्क डाउनलोड किया जा सकता है। इस बारे में मप्र राज्य मुक्त स्कूल शिक्षा बोर्ड के उप निदेशक डॉ. संजय पटवा का कहना है कि रुक जाना नहीं के लिए आवेदन करने की अंतिम तिथि 14 जुलाई है। 12वीं का परिणाम घोषित होने का इंतजार किया जा रहा है, जिससे आवेदन करने की तिथि बढ़ाई जा सकती है।