रायपुर.  छत्तीसगढ़ में अनलॉक 1.0 के पहले दिन मौसम खुशनुमा रहा. प्रदेश के कई इलाकों में पारा गिर गया, जिससे लोगों को तपती गर्मी से काफी राहत मिली. मौसम  विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक सोमवार को रायपुर का अधिकतम 39.2 रहा डिग्री सेल्सियस रिकार्ड हुआ है. पिछले दिन राजधानी का तापमान 40 से पार पहुंच गया था, वहीं न्यूनतम तापमान 25.4 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया है.  मौसम विज्ञान विभाग की मानें तो एक जून को केरल में मानसून पहुंच रहा है. वहीं प्री मानसून बारिश की वजह से राज्य के कई इलाकों में पारा गिर गया है.

मौसम विभाग के मुताबिक राज्य के कई इलाकों में सोमवार को बारिश हुई, जिस वजब से तापमान में गिरावट दर्ज की गई है. अंबिकापुर जहां पारा 40 के पार पहुंच गया था, अब तापमान 35.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज की गई है. तो वहीं बिलासपुर में 39, पेंड्रा रोड 35.1 और जगदलपुर में 34 डिग्री सेल्सियस तापमान रिकॉर्ड किया गया है.

15 जूर तक मानसून की दस्तक
मौसम वैज्ञानिक एचपी चंद्रा ने बताया कि 1 जून को मानसून केरल पहुंच चुका है. छत्तीसगढ़ के बस्तर में 12 से 15 जून तक मानसून के पहुंचने की संभावना है. वहीं 25 जून तक पूरे छत्तीसगढ़ को मानसून कवर कर सकता है. वहीं अब किसान जून में ही खेती किसानी का काम शुरू कर सकेंगे. पिछले साल जुलाई महीने तक खेती का कार्य प्रभावित हुआ था. मौसम वैज्ञानिक का कहना है कि जब मध्य प्रशांत महासागर के पानी का तापमान बढ़ जाता है तब सूखा पड़ने की संभावना बनती है. यही विश्व के मौसम को परिवर्तित करता है. इसके उलट लॉनिनों की स्थिति हो याने मध्य प्रशांत महासागर का पानी ठंड़ा हो तो भारत उप महाद्वीप में अच्छी बारिश होती है. इस साल लॉनिनों की वजह से अच्छी बारिश की संभावना है.  साल 2017 में 1098.3 एमएम वर्षा दर्ज की गई थी. वहीं 2018 में 1125 एमएम और 2019 में 1214. 9 एमएम बारिश हुई है.  2019 के आंकड़ों पर गौर करें तो कई जिलों में बारिश का प्रतिशत कम रहा है.