चाहे जितने पौधे लगाइए , मुफ्त में गड्डा खोदने आ जाएंगे

कीर्ति राणा

इंदौर पर्यावरण को बेहतर बनाने और प्रकृति को सहेजे रखने के लिए कुछ करने की छटपटाहट हैतो उचित वक्त और मौसम आ गया है। हजार नहीं तो सौ, सौ नहीं तो दस या एक पौधा तो लगा ही सकते हैं।पौधा लगाने का मन बन जाए तो पर्याप्त गहराई वाला गड्डा खोदने की चिंता से मुक्त करने के लिए डॉ ऋतुराजटोंग्या की टीम मशीन ले कर गड्डा खोदने आ जाएगी।मजदूर भले ही खुदाई की मजदूरी लेते हों लेकिन अपनीमां चंपादेवी की स्मृति में डॉ टोंग्या यह काम निशुल्क करते हैं।बस आने-जाने और मशीन के लिए लगने वालापेट्रोल भरवा दीजिए फिर चाहे सौ या हजार गड्डे करवाना हो उसका कोई शुल्क नहीं है।

अपनी मां की स्मृति में चंपांदेवी टोंग्या परमार्थिक ट्रस्ट का गठन करने के साथ ही पिछले साल से अब तक डॉअनिल बक्षी के यहां 11 सौ, डॉ डाकवाले के यहां एक हजार,मांगल्या स्कूल में 150 के साथ ही विभिन्नकॉलोनियों के रहवासी संघों के अनुरोध पर करीब 5 हजार गड्डे कर चुके हैं।इसमें जानापाव पहाड़ी पर 5 हजारपौधों के लिए पहले चरण में 500 गड्डे भी शामिल हैं।सुदामा नगर निवासी एक परिवार अपने माता पिता कीस्मृति में दो पौधे रोंपना चाहता था लेकिन गड्डों के लिए मजदूरी अधिक मांगने के कारण मजबूर थे। डॉ टोंग्यामशीन लेकर उनके घर पहुंच गए, अब वो परिवार खुश है।

एक लीटर पेट्रोल में 150 गड्डे, यदि मैं पैसे लेने लगूं तो मां की भावना का अपमान होगा

कोई सी गाड़ी खरीदते वक्त अकसर पूछ ही लिया जाता है एवरेज क्या देती है।उसी तरह जमीन में गड्डा खोदनेवाली(अर्थ अगर) मशीन एक लीटर पेट्रोल में एक घंटे में ढाई फीट गहरे और 8 इंच चौड़े 150 गड्डे खोद सकतीहै।ऐसे में वृहद पैमाने पर पौधारोपण करने के लिए तीन-चार घंटे ही पर्याप्त हैं।पौधारोपण में सबसे बड़ी चुनौतीगड्डा खुदाई महत्वपूर्ण होने से कई बार मजदूर मिल नहीं पाते, मिल जाएं तो मजदूरी बजट से बाहर लगती है।

डॉ टोंग्या (9977333229) कहते हैं मां की सीख है कि जीवन में जब अवसर मिले परमार्थ करने में पीछे मतहटना।उनकी स्मृति में ही यह काम शुरु किया है और इस काम के पैसे लेने लगूं तो ये मां की भावना काअपमान करने जैसा पाप होगा। इसलिए निशुल्क-निस्वार्थ भाव से करता हूं।कई लोग मशीन ले जाते हैं औरकई परिवार मुझे ही बुला लेते हैं। एक पौधे के लिए भी जाने में हिचक इसलिए नहीं कि कम से कम वहपरिवार पौधा लगाना चाहता तो है। मैं तो कॉलोनी वालों से यही अनुरोध करता हूं कि फूलदार की अपेक्षाफलदार पौधे लगाए, इससे पक्षियों का पेट भरेगा, बच्चे फल तोड़ भी लेंगे तो खाएंगे ही।

आप बस कॉल करिए, पौधारोपण के लिए गड्डा करने आ जाएंगे

पेशे से डॉक्टर रितुराज टोंग्या हार्ट स्पेशलिस्ट तो हैं ही, अब जनरल फिजिशियन के रूप में भी सेवा भाव कोप्राथमिकता देते हुए चिकित्सा सेवा कार्य कर रहे हैं। यदि आप का भी मन कर रहा है इस मौसम में परिजनों, संगठन के साथ मिलकर पांच-पच्चीस पौधे लगाने का तो डॉ टोंग्या का नंबर है: 9977333229। बस इस नंबर पर कॉल कर दीजिए, उनकी टीम मशीन लेकर पौधों के लिए गड्डा करने आजाएगी, यह काम निशुल्क करेंगे।

 

फोटो: डॉ रितुराज टोंग्या