मुंबई,महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में मात्र एक सीट जीतने वाली महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के प्रमुख राज ठाकरे ने शैडो कैबिनेट का गठन किया है. इस कैबिनेट में उन्होंने अपने बेटे अमित ठाकरे को पर्यटन मंत्री का प्रभार दिया है. इस तरह से उन्होंने अपने कैबिनेट में बेटे अमित ठाकरे को वही मंत्रालय दिया है जो मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने अपनी सरकार में अपने बेटे आदित्य ठाकरे को दिया है.

आदित्य के बराबर खड़े हुए राज ठाकरे के बेटे

बता दें कि महाराष्ट्र सरकार में आदित्य ठाकरे पर्यटन मंत्री हैं. अब अमित ठाकरे अपने चचेरे भाई आदित्य ठाकरे के कामकाज पर निगाह रखेंगे और राज्य में पर्यटन के विकास के लिए नीतियां तय करेंगे.

राज ठाकरे ने 9 मार्च को पार्टी के 14वें स्थापना दिवस पर शैडो कैबिनेट का गठन करने की घोषणा की और अपने बेटे को पर्यटन मंत्री और कानून व न्याय मंत्री बनाने की घोषणा की.

दोनों ठाकरे के बीच पुरानी अदावत

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और राज ठाकरे के बीच प्रतिस्पर्द्धा पुरानी रही है. बाल ठाकरे के दौर में राज ठाकरे कभी शिवसेना के कद्दावर नेता हुआ करते थे. लेकिन राजनीतिक महात्वाकांक्षा की टकराहट में दोनों भाइयों के रास्ते जुदा हो गए. इसके बाद 9 मार्च 2006 को राज ठाकरे ने महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना नाम से अलग पार्टी बना ली थी.

ब्रिटिश परंपरा है शैडो कैबिनेट

शैडो कैबिनेट ब्रिटेन की संसदीय परंपरा की देन है. इसके तहत विपक्ष का नेता अपनी पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को चुनते हैं और उन्हें एक मंत्रालय का प्रभार देते हैं. शैडो कैबिनेट का पदभार संभालने वाला मंत्री अपने विभाग के मुद्दों और नीतियों पर सत्ताधारी दल को घेरता है, और उनसे सवाल पूछता है. इसके अलावा शैडो कैबिनेट के मंत्री गवर्नेंस के वैकल्पिक नीतियां भी बनाते हैं.