केनबरा । भारत और अमेरिका स‎हित दुनिया के कई देशों से पंगा लेना अब चीन के लिए महंगा पड़ता दिखाई दे रहा है। चीनी कंपनी टिकटॉक पर भारत में प्रतिबंध और ट्रंप के धमकी दिए जाने के बाद अब ऑस्ट्रेलिया ने भी कार्रवाई करने का मन बना लिया है। ऑस्ट्रेलियाई सुरक्षा एजेंसियों ने टिकटॉक पर डेटा चोरी और देश की सुरक्षा को खतरे में डालने के आरोपों की जांच शुरू कर दी है। ऑस्ट्रेलियन ब्रॉडकास्टिंग कॉर्पोरेशन ने बताया कि प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने देश के खुफिया एजेंसियों से जांच करने के लिए कहा है कि क्या यह चीनी ऐप सुरक्षा के लिए खतरा है। इसके अलावा ऑस्ट्रेलिया का गृह मंत्रालय यह पता लगा रहा है कि गोपनीयता या डेटा सुरक्षा जोखिमों का पता लगने के बाद ऐप के खिलाफ क्या-क्या कदम उठाए जा सकते हैं। ऑस्ट्रेलिया के कई सांसदों ने टिकटॉक पर प्रतिबंध की मांग की है। इस एप का स्वामित्व चीनी टेक फर्म बाइटडांस के पास है। वहीं टिकटॉक ने कहा है कि उपयोगकर्ताओं को डेटा सुरक्षा के बारे में चिंता करने की जरूरत नहीं है। उन्होंने बताया कि वह ऑस्ट्रेलियाई उपयोगकर्ताओं के डेटा को चीन सहित किसी भी विदेशी सरकार को नहीं सौंप रहा है। चीन से तनाव के बीच जापान में भी टिकटॉक सहित कई चीनी ऐप्स के खिलाफ जांच जारी है। पिछले हफ्ते कुछ जापानी सांसदों ने इस ऐप पर प्रतिबंध लगाने की मांग की थी। माना जा रहा है कि अमेरिका और जापान जल्द ही टिकटॉक के खिलाफ बड़ी कार्रवाई कर सकते हैं।