प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन, नीति आयोग के सदस्य, कैबिनेट सचिव और केंद्र सरकार के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की। इसमें देश में कोविड-19 स्थिति की समीक्षा की।
बैठक में प्रधानमंत्री ने निर्देश दिया कि हमें सार्वजनिक स्थानों पर व्यक्तिगत स्वच्छता और सामाजिक अनुशासन का पालन करने की आवश्यकता को दोहराना चाहिए। कोविड-19 के बारे में जागरुकता का व्यापक रूप से प्रसार किया जाना चाहिए और संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए निरंतर जोर दिया जाना चाहिए।
प्रधानमंत्री ने दिल्ली में महामारी की स्थिति में केंद्र, राज्य और स्थानीय अधिकारियों के ठोस प्रयासों की सराहना की। उन्होंने आगे निर्देश दिया कि पूरे एनसीआर क्षेत्र में कोविड-19 महामारी से परेशान अन्य राज्य सरकारों के साथ समान दृष्टिकोण अपनाया जाना चाहिए।
प्रधानमंत्री कार्यालय के बयान के अनुसार अनुसार मोदी ने कहा कि इस संबंध में संतुष्ट हो जाने की कोई गुंजाइश नहीं है। मोदी ने यह निर्देश भी दिया कि अधिक संक्रमण दर वाले सभी राज्यों और स्थानों पर तत्काल राष्ट्रीय स्तर की निगरानी और दिशा-निर्देशन की व्यवस्था होनी चाहिए।
वक्तव्य के अनुसार, 'प्रधानमंत्री ने दिल्ली में महामारी के हालात पर नियंत्रण में केंद्र, राज्य और स्थानीय अधिकारियों के समन्वित प्रयासों की प्रशंसा की।' इसमें कहा गया, 'उन्होंने यह निर्देश भी दिया कि पूरे एनसीआर क्षेत्र में कोविड-19 महामारी पर काबू पाने में अन्य राज्य सरकारों को भी इस तरह के प्रयास करने चाहिए।'
समीक्षा बैठक में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन और कैबिनेट सचिव समेत अन्य ने भाग लिया। बयान में बताया गया कि बैठक में अहमदाबाद में ‘धन्वन्तरि रथ’ के माध्यम से निगरानी और घर-घर जाकर मरीजों की देखभाल करने के ‘सफल उदाहरण’ का भी उल्लेख किया गया और निर्देश दिया गया कि अन्य स्थानों पर भी इसे अपनाया जा सकता है।