भोपाल : चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री विश्वास सारंग ने कहा है कि देश के जाने-माने चिकित्सकों के अनुभवों को प्रदेश के मेडिकल छात्रों से साझा करने की रूपरेखा तैयार की जाये। इससे विषय विशेषज्ञों के अनुभवों से छात्रों को लाभ मिलेगा। श्री सारंग गुरूवार को मंत्रालय में चिकित्सा शिक्षा विभाग की गतिविधियों की समीक्षा कर रहे थे।

मंत्री श्री सारंग ने कोविड की रोकथाम के लिये अन्य राज्यों की तुलना में प्रदेश में अपनाये जा रहे बेहतर उपायों के लिये पूरी टीम को बधाई दी। श्री सारंग ने कहा कि वे स्वयं कोविड की मॉनीटरिंग सिस्टम से अपडेट रहेंगे। साथ ही कोविड मरीज की प्रतिदिन डॉक्टर्स से जानकारी प्राप्त करेंगे।

मंत्री श्री विश्वास सारंग ने कहा कि चिकित्सा शिक्षा के हर वर्ग से संवाद स्थापित कर समन्वय बनाने की जरूरत है। साथ ही उनसे प्राप्त सुझावों से विभाग को नई ऊँचाइयों पर पहुँचाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि चिकित्सा शिक्षा में प्रदेश का नाम रोशन हो, इस दिशा में चौतरफा प्रयास हो और विभागीय बड़े निर्माण कार्यों को चरणबद्ध तरीके से विभाजित कर समय-सीमा में पूर्ण किया जाये।

बैठक में मेडिकल, डेन्टल, नर्सिंग और पैरा-मेडिकल कॉलेज की गतिविधियों सहित चल रहे प्रोजेक्ट की स्थिति कि जानकारी दी गई। इस मौके पर अपर मुख्य सचिव श्री मोहम्मद सुलेमान, प्रमुख सचिव श्री संजय कुमार शुक्ला, आयुक्त श्री निशांत बरवड़े, संचालक डॉ उल्का श्रीवास्तव सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।