भोपाल : आत्म निर्भर मध्यप्रदेश की दिशा में मध्यक्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी द्वारा अपने  कार्यक्षेत्र के भोपाल, नर्मदापुरम्, ग्वालियर एवं चंबल संभाग के 16 जिलों में महिला आत्म निर्भरता के लिए विशेष योजना संचालित की है। इस योजना का नाम ‘‘निष्ठा विद्युत मित्र योजना‘‘ रखा गया है। राज्य ग्रामीण अजीविका मिशन के अंतर्गत स्व-सहायता समूह में पंजीकृत महिलाओं को निष्ठा विद्युत मित्र के रूप में अनुबंधित किया गया है। योजना से 200 से भी अधिक महिलाओं को आर्थिक लाभ हो रहा है और वे अपने घर की जरूरतें औऱ बच्चों की परवरिश को पूरा कर रही हैं।
ऊर्जा मंत्री श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने कहा है कि कठिन मेहनत और उदारवादी दृष्टिकोण से महिलाएं योजना के क्रियान्वयन में अच्छा काम कर रही हैं। ये योजना बेहतर परिणाम के साथ-साथ महिलाओं को आत्मनिर्भर बना रही है। 

वसूली भाभी के नाम से बनी पहचान
निष्ठा विद्युत मित्र मालती प्रधान को क्षेत्र के लोग 'वसूली भाभी' के नाम से जानते हैं। मालती ने बताया कि कोविड-19 के लॉकडाउन के दौरान पति की आमदनी कम हो गई है लेकिन बिजली कंपनी की निष्ठा विद्युत मित्र योजना ने आमदनी के नये दरवाजे खोल दिए हैं। मैंने इस योजना में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया है। मालती स्नातक तक पढ़ी हैं और क्षेत्र के लोग उन्हें ‘‘वसूली भाभी 440 वोल्ट करंट‘‘ के नाम से जानने लगे हैं। वे बताती हैं कि शुरूआती महीनों में वसूली में बहुत दिक्कतें आयीं। लोग वसूली के प्रति इतने गंभीर नहीं थे, लेकिन जैसे ही विनम्रता, बिजली अधिनियम और नियमों का हवाला दिया तो धीरे-धीरे लोगों ने बिजली बिल जमा करना शुरू कर दिया। अब निष्ठा विद्युत मित्र महिलाओं को ग्रामीण लोग सम्मान से कुर्सी पर बैठाते हैं और बिजली बिल जमा करते हैं।
योजना में काम कर रही होशंगाबाद जिले के पलासी गांव की मालती प्रधान (उम्र 37) विनम्रता से गांव के लोगों से बिजली के बिल के भुगतान का आग्रह करती हैं। मालती उन दो सौ निष्ठा विद्युत मित्रों में से एक है जिन्हें बिजली बिल की वसूली और नये कनेक्शन, राजस्व वसूली, बिजली चोरी की रोकथाम आदि के काम दिए गए हैं। मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने अपने कार्यक्षेत्र में महिलाओं को आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनाने के लिए इतनी मजबूती से काम किया है कि 195 निष्ठा विद्युत मित्रों ने 13 लाख से भी अधिक राजस्व वसूली की है।   होशंगाबाद में 8 एवं राजगढ़ में 4 नये कनेक्शन भी दिए हैं। यह योजना धीरे-धीरे गति पकड़ रही है और महिलाओं में भी इसको लेकर जागरूकता बढ़ रही है।
इटारसी के पास की रश्मि मीना ने सोना सावरी गांव में बिजली चोरी की रोकथाम की दिशा में काफी काम किया है। निशा विश्वकर्मा (उम्र 42) भोपाल जिले के बैरसिया की रहने वाली हैं। उन्होंने निष्ठा विद्युत मित्र योजना में वसूली और बिजली चोरी रोकने की दिशा में कारगर कदम उठायें हैं। जब लोगों को निशा बताती हैं कि बिजली चोरी से जेल भी हो सकती है और आपको और आपके परिवार को सरकारी योजनाओं के लाभ से वंचित किया जा सकता है। इस प्रकार की जागरूकता लाने से क्षेत्र में वे काफी हद तक बिजली चोरी रोकने में कामयाब हुईं हैं। 
योजना में मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के बैतूल, गुना, होशंगाबाद, राजगढ़ एवं सीहोर में निष्ठा विद्युत मित्र द्वारा राजस्व वसूली का अच्छा प्रतिशत रहा है और इससे महिलाएं भी काफी प्रसन्न हैं।