महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती अनिला भेडि़या ने आज दुर्ग जिले में स्थित संप्रेक्षण गृह का निरीक्षण किया। यहां उन्होंने व्यवस्था की जानकारी ली और बुनियादी सुविधाओं की उपलब्धता से संतुष्ट हुई। श्रीमती भेंडिया ने यहां बच्चों से चर्चा भी करते हुए उन्होंने कहा कि अपने समय का रचनात्मक उपयोग करें। समाचार सुनें, अच्छा साहित्य पढ़ें, अच्छी बातों का मनन करें। उन्होंने कहा कि आपके परिवार के लोगों को बहुत अच्छा लगेगा, जब आप एक अच्छा उद्देश्य लेकर कार्य करेंगे। खूब मेहनत करेंगे। रचनात्मक चीजों में रुचि दिखाएंगे। मंत्री ने बच्चों से यहां बुनियादी सुविधाओं की उपलब्धता के बारे में जानकारी भी ली। बच्चों ने बताया कि उन्हें किसी तरह की दिक्कत नहीं है। 
    मंत्री श्रीमती भेडि़या ने बच्चों से कोरोना संक्रमण के बारे में भी पूछा। बच्चों ने बताया कि कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर सारी दुनिया सोशल डिस्टेंसिंग का सहारा ले रही है ताकि कोरोना से बच सकें। हम लोग भी एक दूसरे से दूरी रखते हैं और मास्क का उपयोग करते हैं। उन्होंने कहा कि यह अच्छी बात है कि जो भी जितना अधिक समाचार माध्यमों के निकट संपर्क में रहेगा, उसकी जागरूकता का स्तर अच्छा रहेगा और उसका लाभ भी उसे उतना ही मिलेगा। जिला कार्यक्रम अधिकारी ने मंत्री को संप्रेक्षण गृह में उपलब्ध कराई गई सुविधाओं के बारे में विस्तार से जानकारी दी। संप्रेक्षण गृह के स्टाफ से भी मंत्री ने मुलाकात की। उन्होंने कहा कि आप लोग इसी तरह से मेहनत कीजिए, इसका अच्छा नतीजा आएगा। वृद्धाश्रम में बुजुर्गों ने बताया ऐसा संक्रमण कभी नहीं सुना। श्रीमती भेडि़या वृद्धाश्रम पहुंचकर वृद्धजनों के सेहत और व्यवस्थाओं की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग बनाकर रखें और हमेशा मास्क पहन कर रखें। बुजुर्गों ने बताया कि हां, हम लोग भी रोज कोरोना संक्रमण के बारे में सुन रहे हैं। 89 साल के एक बुजुर्ग ने कहा कि अपनी इतनी लंबी जिंदगी में मैंने कभी इस तरह के व्यापक संक्रमण के बारे में नहीं सुना और सबको इस बारे में जागरूक भी करता हूँ। मंत्री ने पूछा कि आप लोगों को भोजन समय पर और गुणवत्तापूर्वक मिल रहा है। इस पर बुजुर्गों ने बताया कि हां, हमें यह सारी सुविधाएं अच्छी तरह से मिल रही हैं।

सखी सेंटर और बाल गृह भी पहुंची मंत्री
     मंत्री श्रीमती भेंडिया ने सखी सेंटर और बाल गृह का निरीक्षण भी किया। सखी सेंटर में अब तक की गतिविधियों की जानकारी ली। उनके रजिस्टर देखे और यहां पदस्थ अमले से अब तक किए गए कार्यों की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि आपका काम बेहद महत्वपूर्ण है। आपके द्वारा उठाये गए प्रभावी कदमों से पीडि़त महिलाओं को त्वरित राहत मिल पाएगी।