भोपाल, मध्य प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव की संख्या में अचानक बढ़ोत्तरी देखने को मिली थी। जिसके बाद सीएम शिवराज ने कड़ा फैसला लेते हुए राज्य की आर्थिक राजधानी इंदौर को संपूर्ण लॉक डाउन करने का आदेश दिया था। जिसके बाद इंदौर की सड़कों पर सिर्फ पुलिसकर्मी ही दिखे। मध्‍य प्रदेश के स्वास्थ्य अधिकारी के अनुसार, सोमवार तक मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस से 47 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। इनमें से सबसे अधिक 27 मरीज इंदौर में हैं, जबकि जबलपुर में आठ, उज्जैन में पांच, भोपाल में तीन और शिवपुरी एवं ग्वालियर में दो-दो लोग संक्रमित हुए हैं। कोरोना के इन 47 मरीजों में से 43 का इलाज अलग-अलग अस्पतालों में किया जा रहा है। राज्‍य में COVID-19 संक्रमित पांच लोगों की मृत्यु हो चुकी है।
- इंदौर मेडिकल कॉलेज से भोपाल भेजे गए सैंपलों में नए 17 पॉजिटव मरीज की बात कही जा रही है। लेकिन एमजीएम मेडिकल कालेज प्रबंधन इसकी पुष्टि नहीं कर रहा।

- इस संबंध में डीन डॉ ज्योति बिंदल का कहना है कि वो 17 पॉजिटिव इंदौर के बता रहे हैं, लेकिन कुछ तकनीकी गड़बड़ी हुई है इसलिए हम आज सभी फॉर्म वापस भेज रहे हैं। इसके बाद शाम तक स्थिति स्पष्ट कर पाएंगे।

मध्यप्रदेश के इंदौर 49 साल की महिला जरीन ने बीती रात दम तोड़ दिया। मेडिकल बुलेटिन के मुताबिक, वह डायबिटीज और हाई ब्लडप्रेशर की मरीज थी। इसके साथ राज्य में संक्रमण से मरने वालों का आंकड़ा पांच पहुंच गया है।

जबलपुर में आठ, उज्जैन में पांच, भोपाल में तीन और शिवपुरी एवं ग्वालियर में दो-दो लोग संक्रमित हुए हैं। कोरोना के इन 47 मरीजों में से 43 का इलाज अलग-अलग अस्पतालों में किया जा रहा है।