बलौदाबाजार : गंदगी मुक्त भारत अभियान के तहत कल रात ई -रात्रि चौपाल का आयोजन किया गया। जिसके तहत वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कलेक्टर सुनिल कुमार जैन ने जिले के सभी विकासखण्डों के सरपंचों से बातचीत कर सफ़ाई की व्यवस्था के साथ पंचायतों में चल रहें स्वच्छता अभियान के गतिविधियों के बारी में जानकारी लिया। ई-रात्रि चौपाल के माध्यम से जिले के करीब 130 सरपंचों ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जुड़कर कलेक्टर तक अपनी बातें पहुँचाई। बातचीत के दौरान बलौदाबाजार जनपद पंचायत के अंतर्गत ग्राम पंचायत अर्जुनी के सरपंच प्रमोद कुमार जैन ने कलेक्टर श्री जैन को बताया कि हमारे गाँव मे तालाब के किनारे एक सामुदायिक शौचालय की कमी महसूस होती हैं। इस पर कलेक्टर श्री जैन ने बताया कि आप सभी निश्चित रहें आने वाले कुछ महीनों में जिले के बहुत से बड़े गाँवो में  सामुदायिक शौचालय निर्माण की स्वीकृति प्रदान किये गये हैं। निश्चित ही इनसे आप लोगों की बहुत से समस्याओ दूर होंगे। उसी तरह भाटापारा जनपद पंचायत के अंतर्गत ग्राम मल्दी के सरपंच भोला प्रसाद वर्मा ने गाँव मे प्लास्टिक एवं कचरे के निष्पादन के संबंध के बारे में मार्गदर्शन लिया ।
कलेक्टर ने विशेष रूप से ग्राम पंचायत कैथा एवं छरछेद की स्वच्छता कार्यों की तारीफ करतें हुए जिले अन्य ग्राम पंचायत इस मॉडल को अपनाने की बात कहीं। ग्राम पंचायत छरछेद के सरपंच भागवत मानिकपुरी ने बताया कि हमारे गाँव मे युवाओं का समूह  बनाया गया हैं। जिसे यूथ फ़ॉर चेंज नाम दिया गया हैं। इसके माध्यम से गाँव मे रोज प्रतिदिन सुबह 6 बजें से गली की सफाई गाँव के युवाओं के माध्यम से किया जाता हैं। एवं जुगाड़ पर आधारित पुराने तेल के टीपा को पेंट कर डस्टबिन बनाया गया हैं। जो प्रत्येक घर के सामने रखा गया हैं।कलेक्टर ने यह जानकारी मिलते ही बड़ी प्रसन्नता जाहिर किये साथ ही गाँव आने की बात कही। उसी तरह ग्राम पंचायत कैथा के सरपंच दीनदयाल साहू ने भी गाँव मे सफाई हेतु युवाओं के 30 लोंगो की टीम बनाया गया हैं। इस दौरान  जिला पंचायत सीईओ डॉ फ़रिहा आलम सिद्की,अतिरिक्त जिला पंचायत सीईओ हरिशंकर चौहान, सहायक परियोजना अधिकारी एसबीएम मुरली कांत यदु,एवं सलीम उपस्थित थे।उल्लेखनीय हैं कि प्रधानमंत्री द्वारा 8 से 15 अगस्त तक गंदगी मुक्त भारत अभियान चलाने का आग्रह किया गया गया था। जिसके तहत जिले के विभिन्न गाँवो में सफाई का विशेष स्वच्छता अभियान चलाया गया हैं। जिसके तहत 9 अगस्त को नव निर्वाचित सरपंचों के नेतृत्व में सिंगल यूज़ प्लास्टिक एकत्र एवं पृथक्करण अभियान,10 अगस्त को सामुदायिक भवनों एवं स्थानों में श्रमदान,11 अगस्त को गाँव के दीवारों पर स्वच्छता आधारित नारा लेखन,12 अगस्त वृक्षारोपण,14 अगस्त सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों की स्वच्छता अभियान, एवं 15 अगस्त को गाँव मे बैठक कर ओडीएफ प्लस के लिये तैयारियां करनें कहा गया हैं।