छत्तीसगढ़ के धमतरी में एक बार फिर रेत खनन माफिया ने गुंडागर्दी की। इस बार जिला पंचायत के सभापति गोविंद साहू और उनके साथी की लात-घूंसों और रॉड से पिटाई की गई। सभापति को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया। कुरूद थाने में एफआईआर दर्ज कराई गई है। जिसके बाद पुलिस ने 5 लोगों को हिरासत में लिया है।

जानकारी के मुताबिक, जिला पंचायत सभापति गोविंद साहू और जिला पंचायत सदस्य मीना बंजारे के पति यतींद्र बंजारे बुधवार देर रात निरीक्षण के लिए निकले थे। यतींद्र बंजारे ने पुलिस को बताया कि परेवाडीह, डमकादिह और कपालफोड़ी का निरीक्षण कर वे मंदरौद मेघा नदी के किनारे भंडारण के पास पहुंचे थे।

हाइवा से निकाल रहे थे रेत, टोकने पर बोले- बहुत नेतागिरी करते हो
वहां पर अवैध रूप से हाइवा से रेत निकाल कर भंडारण किया जा रहा था। इस पर उन्होंने टोका तो कुछ लोग सामने आ गए और उनके साथ गाली-गलौच करने लगे। इसके बाद कहने लगे कि बहुत नेतागिरी करते हो और हमला कर दिया। लात-घूंसों और रॉड से जमकर पीटा गया। इस दौरान गोविंद साहू के कपड़े भी फाड़ दिए।

अलग-अलग टीमें निकली थीं निरीक्षण के लिए
अवैध रेत खनन को देखते हुए बुधवार को जिला पंचायत में हुई बैठक में निरीक्षण का निर्णय लिया गया था। इस पर देर रात अलग-अलग टीमें जिला पंचायत अध्यक्ष कांति सोनवानी, उपाध्यक्ष निशु चंद्राकर, सदस्य तारिणी चंद्राकर ,सुमन साहू, कुसुमलता, मनोज साक्षी, मीना बंजारे, गोविंद साहू सभी निरीक्षण के लिए निकले थे।

तीन माह पहले जिला पंचायत सदस्य को बंधक बनाकर बेल्ट से पीटा था
इससे करीब तीन माह पहले 18 जून को भी रेत खनन माफिया ने जिला पंचायत सदस्य खूबलाल और उनके साथियों को 3 घंटे तक बंधक बनाने के दौरान बेल्ट और डंडों से पीटा था। किसी तरह वहां से दरवाजा तोड़कर वे भागे और रुद्री थाने पहुंचे और वहीं पर बेहोश होकर गिर पड़े थे। मामले में कुरूद पुलिस पर मिलीभगत का भी आरोप लगा है।