देशव्यापी लॉकडाउन का आज सातवां दिन है और दिल्ली-एनसीआर में इसका व्यापक असर भी देखने को मिल रहा है। वहीं निजामुद्दीन स्थित मरकज भवन में जुटे लोगों  के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने से पूरे देश में हड़कंप मच गया है, क्योंकि यहां हुए तबलीगी जमात के कार्यक्रम में मौजूद लोग अब पूरे देश में फैल गए हैं। देश के कई राज्य ऐसे लोगों को चिन्हित करने में जुटी है। वहीं दूसरी ओर दिल्ली के एक और मोहल्ला क्लिनिक का डॉक्टर कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। इसी मसले पर इस वक्त दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के घर भी बैठक चल रही है। आज यहां पढ़ें दिनभर का अपडेट...बाबरपुर मोहल्ला क्लिनिक के डॉक्टर में कोरोना संक्रमण की पुष्टि
मौजपुर के मोहल्ला क्लिनिक के बाद अब बाबरपुर के मोहल्ला क्लिनिक के डॉक्टर में कोरोना के संक्रमण की पुष्टि हुई है। डॉक्टर के घर के बाहर नोटिस लगा दिया गया है कि जो भी व्यक्ति या मरीज डॉक्टर से 12-20 मार्च के बीच मिला हो वह खुद को घर में अगले 15 दिनों के लिए क्वारंटीन में रख ले।

दिल्ली में अब  2500 केंद्रों पर बांटा जाएगा भोजन
दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने बताया कि कोविड-19 के खतरा देखते हुए सामाजिक दूरी सुनिश्चित करने के लिए राजधानी में भोजन वितरण केन्द्रों की संख्या 500 से बढ़ाकर 2,500 की जाएगी।

फरीदाबाद में सामने आया पांचवां कोरोना पॉजिटिव
फरीदाबाद में पांचवा करोना संक्रमित मरीज मिला है। यह 50 वर्षीय व्यक्ति सेक्टर-16 निवासी है जो नोएडा के अपने किसी दोस्त से संक्रमित हुआ है। निजी लैब में जांच के बाद पुष्टि हुई और इसके बाद मरीज को सफदरजंग अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है।

दिल्ली के सीएम के घर चल रही उच्चस्तरीय बैठक
दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित मरकज भवन से सामने आए कोरोना पॉजिटिव केसों ने दिल्ली सरकार की नींद उड़ा दी है। इस वक्त इसी मामले पर मुख्यमंत्री के घर पर उच्चस्तरीय बैठक चल रही है।

मरकज भवन से निकाले गए लोगों में 24 कोरोना पॉजिटिव
दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने बताया कि मरकज बिल्डिंग से निकाले गए लोगों में से अब तक 24 कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। उन्होंने कहा कि हमें सही तरीके से नहीं पता है कि वहां कुल कितने लोग मौजूद थे। यह आकलन है कि 1500-1700 लोग इस भवन में थे। अब तक 1033 लोग यहां से निकाले जा चुके हैं। 334 लोगों को  अस्पतालों में भेजा जा चुका है और 700 को क्वारंटीन सेंटर में भेजा गया है।

नोएडा में संक्रमण फैलाने वाली कंपनी 'सीज फायर' सील
मुख्यमंत्री की फटकार के बाद चेता प्रशासन, सेक्टर 135 स्थित सीज फायर कंपनी को सील किया गया। कंपनी की लापरवाही के चलते जिले में 19 पॉजिटिव केस सामने आए। सीएम ने सीज फायर पर कार्यवाही न करने पर अधिकारियों को जमकर फटकार लगाई थी। कंपनी के कई कर्मचारियों ने मार्च में विदेश यात्रा की थी। यही नहीं कंपनी में संक्रमित विदेशी नागरिक भी आया था।

जीएनआईडीए के सीईओ बनाए गए जिले के ऑफिसर इनचार्ज
ग्रेटर नोएडा इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट अथॉरिटी(जीएनआईडीए) के सीईओ नरेंद्र भूषण को गौतमबुद्ध नगर के ऑफिसर इनचार्ज के रूप में नियुक्त किए गए हैं जो कोरोना महामारी से लड़ने के लिए कदम उठाएंगे।

860 लोगों को मरकज बिल्डिंग से अस्पतालों में किया शिफ्ट
स्वास्थ्य विभाग की मदद से 860 से भी ज्यादा लोगों को निजामुद्दीन की मरकज बिल्डिंग से शहर के कई अस्पतालों में भर्ती कराया जा चुका है। करीब 300 लोग अभी निकाले जाने बाकी हैं।

निजामुद्दीन इलाके से आज भी दर्जनों लोग जांच के लिए पहुंच रहे अस्पताल
दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके से आज भी लोगों का शहर के कई अस्पतालों में जांच के लिए जाना जारी है। बता दें कि निजामुद्दीन इलाके में तबलीगी जमात का कार्यक्रम हुआ था, जहां शामिल होने वाले कई लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। वहीं तेलंगाना के जो छह लोग इस कार्यक्रम में शामिल हुए थे उनकी मौत हो गई है।

दिल्ली-एनसीआर में कोरोना संक्रमितों की संख्या
दिल्ली- 97 संक्रमित
नोएडा-ग्रेटर नोएडा- 38 संक्रमित
गाजियाबाद- 7 संक्रमित
गुरुग्राम- 10 संक्रमित
फरीदाबाद- 5 संक्रमित
पलवल- 1 संक्रमित
बुलंदशहर- 1 संक्रमित