नई दिल्ली । कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने सरकार की आर्थिक नीतियों पर कड़ा प्रहार करते हुए कहा कि बीमा के क्षेत्र में सरकार बड़ा परिवर्तन करने जा रही है, जिसका आम आदमी के ऊपर भारी बोझ पड़ेगा। इसके अंतर्गत सरकार 1000 सीसी तक की मोटरसाइकिल के बीमा पर 20 फीसदी और 1500 सीसी क्षमता तक की गाड़ियों के बीमे में भी इसी प्रकार की वृद्धि की जाएगी। सरकार आम आदमी के लिए बीमे के प्रीमियम में 20 से 25 फीसदी वृद्धि की जाने वाली है। इससे सामान्य लोगों का जीवन बीमा से मोहभंग होगा और आम आदमी को दुर्घटना के समय कोई राहत नहीं मिलेगी। इससे लोग बीमा से भी दूर होंगे। कर्मचारियों के पीएफ एकाउंट पर भी सरकार ने ब्याज कम किया गया है। इससे सामान्य कर्मचारियों की समस्या बढ़ेगी। कांग्रेस नेता का कहना है कि सबसे अजीब बात यह है कि प्रीमियम सस्ती गाड़ियों का ही बढ़ाया जा रहा है जिसका उपयोग निम्न और मध्यम वर्ग करता है, जबकि 1500 सीसी से ज्यादा भारी वाहनों का खर्च नहीं बढ़ाया जा रहा है जिसका उपयोग अमीर वर्ग करता है। इससे साबित होता है कि आम आदमी और गरीबों की बात करने वाली सरकार गरीबों के खिलाफ और अमीरों के हित में काम कर रही है। 
       कानून के जानकार अभिषेक मनु सिंघवी का कहना है कि एक तरफ तो आम आदमी का खर्च बढ़ाया जा रहा है जबकि उसकी आमदनी लगातार कम की जा रही है। खाद्य पदार्थों की कीमतें भी लगातार आसमान छू रही हैं। खाद्य पदार्थों के सूचकांक लगातार ऊंचाई पर बना हुआ है। गैस 25 करोड़ से ज्यादा लोग गैस सिलिंडर का इस्तेमाल कर रहे हैं लेकिन सरकार ने अचानक इनकी कीमतें बढ़ा दिया है। इसका हजारों करोड़ का नुकसान आम आदमी को भुगतना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि एक डॉलर की कीमत उनके सत्ता पर आने के समय के 58.66 रु से आज 73 रु के लगभग हो गया है। इससे आम आदमी की जिंदगी बर्बादी की कगार पर आ गई है, लेकिन सरकार न महंगाई को नियंत्रित कर पा रही है और न ही जनता की जेब में पैसा डालने की कोशिश की जा रही है। उल्टे नौकरियों में कमी कर लोगों को सड़क पर आने के लिए मजबूर किया जा रहा है। आज बेरोजगारी ऐतिहासिक ऊंचे स्तर पर और सृजन अब तक के सबसे न्यूनतम स्तर पर है।