भोपाल. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में कोरोना (Coronavirus) के लगातार सामने आ रहे केसों के बीच एक राहत की खबर सामने आई है. यह राहत की खबर इस बात को लेकर है कि मध्य प्रदेश में कोरोना मरीजों (Corona patients) का रिकवरी रेट बढ़ कर 74.7 प्रतिशत हो गया है. गुरुवार को हुई कोरोना की समीक्षा बैठक में सीएम शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) ने कहा कि सभी जिले मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) का पालन अनिवार्यता सुनिश्चित करें. यह कोरोना संक्रमण को रोकने में प्रभावी है. सीएम ने कहा कि होम आइसोलेशन (Home isolation) के साथ-साथ कोरोना की चेन तोड़ने के लिए जहां-जहां आवश्यक हो, वहां संस्थागत क्वारंटाइन की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए. उन्होंने कहा कि आगे आने वाले त्योहारों जैसे गणेश उत्सव (Ganesh Utsav) और मुहर्रम (Muharram) में किसी भी तरह का सार्वजनिक आयोजन न हो, यह सुनिश्चित किया जाए. अगर कहीं बड़ी मूर्तियों और ताजिए का निर्माण शुरू हो रहा है, तो उस पर तत्काल पाबंदी लगाई जाए. धार्मिक कार्यक्रम घरों में ही हों, यह सुनिश्चित करें. मुख्यमंत्री ने जेलों में फैल रहे संक्रमण को गंभीरता से लेने तथा इसके प्रभावी उपाय करने के निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि फ्रंट लाइन शासकीय सेवकों में संक्रमण से बचाव के लिए हरसंभव प्रयास किए जाएं.

टेस्टिंग क्षमता में इजाफा
प्रदेश में टेस्टिंग क्षमता में लगातार इजाफा हो रहा है. अब 20 हजार से अधिक टेस्ट प्रतिदिन किए जा रहे हैं. अब तक कोरोना से प्रभावित 42 हजार 618 में से 31 हजार 835 व्यक्ति स्वस्थ हुए हैं. वर्तमान में सक्रिय केस 9 हजार 718 हैं.

राजगढ़ और सीधी जिले की समीक्षा
मुख्यमंत्री ने राजगढ़ और सीधी जिले की विशेष रूप से जानकारी ली. राजगढ़ में 54 कंटेनमेंट एरिया बनाए गए हैं. मास्क न पहनने पर जुर्माना और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न करने पर कार्रवाई लगातार जारी है. राजगढ़ कलेक्टर को निर्देश दिए गए हैं कि जो परिवार होम आइसोलेशन के प्रावधानों का पालन नहीं कर रहे हैं, उन्हें संस्थागत क्वारंटाइन में रखा जाए. इसी प्रकार सीधी जिले में प्रकरणों की समीक्षा और उपलब्ध क्षमता की जानकारी ली गई.