वॉशिंगटन । राष्ट्रपति पद के लिए डेमोक्रैटिक पार्टी के उम्मीदवार जो बाइडेन और उपराष्ट्रपति पद की उम्मीदवार कमला हैरिस ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर मिलकर हमला बोला। पहली बार साथ आए बाइडन और हैरिस ने आरोप लगाया है कि कोरोना वायरस से निपटने में ट्रंप विफल रहे हैं। दोनों यह भी कहा कि देश को रंगभेद के आधार पर बांटने की कोशिश कर रहे ट्रंप को वे जरूर हराएंगे और हालात को सुधारेंगे। हैरिस को उपराष्ट्रपति पद का उम्मीदवार चुने जाने पर ट्रंप ने आलोचना की थी। इस पर जो बाइडेन ने डेलवेयर के अपने गृहनगर विलमिंगटन में एक अभियान कार्यक्रम में कहा ‎कि क्या किसी को हैरानी है कि ट्रंप को सशक्त महिलाओं से दिक्कत है? बाइडेन और हैरिस दोनों ने ट्रंप को रंगभेद को लेकर देश के तनावपूर्ण हालात के लिए जिम्मदार ठहराया। बाइडेन ने कहा ‎कि नव-नाजियों को देखकर कैसा लगता था जो श्वेत श्रेष्ठता मशालें लेकर आते थे और अमेरिका की सड़कों पर हिटलर की जर्मनी की तरह बातें करते थे? हैरिस ने भी ट्रंप पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि वह रंगभेद के आधार पर बांटने का काम कर रहे हैं। इसके अलावा कोरोना वायरस को लेकर भी ट्रंप पर सवाल उठाया और कहा कि ट्रंप कई मौतें रोक सकते थे। उन्होंने कहा ‎कि महामारी से निपटने के राष्ट्रपति के गलत तरीके से हम ग्रेट डिप्रेशन के बाद सबसे खराब आर्थिक संकट में है और रंगभेद और व्यवस्था के अन्याय देख रहे हैं। अमेरिका नेतृत्व मांग रहा है।  इससे पहले ट्रंप ने कहा था ‎कि कमला हैरिस ने सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस ब्रेट कवानउघ के साथ असाधारण रूप से बुरा बर्ताव किया था। मैं उसे जल्‍द भूल नहीं सकता हूं। इससे पहले वर्ष 2018 में जस्टिस ब्रेट पर यौन उत्‍पीड़न का आरोप लगा था। गौरतलब है ‎कि कमला हैरिस ने जस्टिस ब्रेट पर कई तीखे सवाल दागे थे।