गोपासदास बंसल
  9131886277

शहडोल।
संभाग के उमरिया जिले में स्थित बांधवगढ़ टाइगर रिर्जव में बाघ नें महुआ बीनने आई एक युवती जान लेने तथा एक बाघ शावक की मौत की घटना प्रकाश में आई है। जानकारी के मुताबिक बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व में ख़ितौली रेंज के मेढ़रा गांव निवासी पप्पी वाई पुत्री स्वर्गीय लालजी अपनी भाभी के साथ महुआ बीनने  गई थी तभी वहांं अचानक बाघ ने उस पर हमला कर दिया। साथ के लोगों ने इस घटना को देखकर शोर मचाया, जिसके कुछ ही समय बाद बाघ  वहां से चला गया, लेकिन तब तक उस युवती की मौत हो चुकी थी । घटना के संबंध में एसडीओ फारेस्ट अनिल शुक्ला ने बताया कि युवती के शव का पीएम आदि कराने के बाद शव उसके परिजनों को सौंप दिया गया है। साथ ही युवती के दाह क्रिया हेतु  पांच हजार रुपये की मदद दी गई है, तथा चार लाख का चेक भी दे दिया गया है ।

मृत अवस्था में मिला बाघ शावक

वहीं जानकारी के मुताबिक बांधवगढ़ रिजर्व फॉरेस्ट में ही करीब एक वर्ष का बाघ का शावक मृत अवस्था में मिला है, उसकी कई दिनों पूर्व  मौत होने  की बात भी सामने आई है।
एसडीओ फॉरेस्ट अनिल शुक्ला के मुताबिक खितौली रेंज में ही करीब दो-तीन दिन पूर्व एक बाघ शावक की मौत हुई थी। यहां पहुंचने पर ज्ञात हुआ कि उस बाघ शावक के पास ही चीतल की हड्डियां भी पड़ी हुई थी । ऐसी आशंका व्यक्त की गई है कि शावक की मां द्वारा चीतल का शिकार किया गया होगा ,इसी दौरान वहां अन्य बाघ आया होगा ,इसके चलते बाघिन तो वहां से चली गई ,परंतु बाघ ने उस नर शावक को मार दिया।
इस पूरी घटना के बारे में लोगों का यह भी कहना है कि बांधवगढ़ राष्ट्रीय उद्यान के तमाम बड़े अधिकारी केवल अपने कार्यालयों में ही सिमट कर रह गए हैं, जिसके चलते आए दिन इस तरह की घटनाएं सामने आती रहती है।