रायपुर : मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की पहल पर स्पेशल ट्रेनों के माध्यम से लॉकडाउन के कारण देश के अन्य राज्यों में फंसे छत्तीसगढ़ के श्रमिकों और अन्य लोगों की छत्तीसगढ़ वापसी का सिलसिला लगातार जारी है। इसी क्रम में अहमदाबाद से चांपा श्रमिक स्पेशल ट्रेन से 553 श्रमिक यात्री जांजगीर-चांपा जिले के चांपा जक्शन रेल्वे स्टेशन पहुंचे। इनमें 510 जांजगीर-चांपा जिले के, 16 छत्तीसगढ़ के अन्य जिलों के और 27 यात्री अन्य राज्यों के शामिल है।
    टेªन के चांपा स्टेशन आने से पूर्व ही प्लेटफार्म को सेनेटाईज किया गया। श्रमिकों के प्लेटफार्म पर उतरते ही सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष ध्यान रखते हुए उनके सामानों को सेनेटाईज किया गया। इसके बाद विकासखंडवार बनाए गए शिविरों में श्रमिकों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया।  स्वास्थ्य परीक्षण के बाद उन्हें जिला प्रशासन की पहल पर बाजोरिया फाउंडेशन और चांपा सेवा संस्थान के माध्यम से भोजन के पैकेट और पेयजल उपलब्ध कराया गया। इसके पश्चात सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराते हुए सभी श्रमिकों को बसों से क्वारेंटाईन सेटरों के लिए रवाना किया गया।
    श्रमिक स्पेशल ट्रेन से आए पामगढ़ के ग्राम मेउ की श्रीमति सुनीता कुर्रे और अकलतरा पीपरसत्ती के श्री हरनारायण ने बताया कि अहमदाबाद के पास ग्राम देवरी में ईट बनाने के काम के लिए नवम्बर माह से गए हुए थे। मार्च में लौटने की तैयारी थी लेकिन लॉकडाउन के कारण दो माह तक बिना काम के वहां रूकना पड़ा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की पहल पर श्रमिक स्पेशल टेªन की सुविधा मिलने से हमारी घर वापसी संभव हुई है। उन्होंने श्रमिकों की चिंता करने वाले मुख्यमंत्री के प्रति आभार व्यक्त करते हुए उन्हें धन्यवाद दिया है।