बीते कुछ दिनों से देश में भले ही कोरोना के मामले घटने लगे हो, मगर केरल समेत कुछ राज्यों में अब भी स्थिति गंभीर है। केरल में बीते चार दिनों से जहां कोरोना के मामले 20 हजार आ रहे हैं, वहीं देश में लगातार चार दिनों से 40 हजार के आसपास नए केस आ रहे हैं। कोरोना की बढ़ती भयावहता को देखते हुए केंद्र सरकार एक बार फिर से हरकत में आ गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण आज यानी शनिवार को केरल सहित 10 राज्यों की स्थिति की समीक्षा करेंगे। राजेश भूषण केरल, महाराष्ट्र, कर्नाटक, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, ओडिशा, असम, मिजोरम, मेघालय और मणिपुर में कोरोना की स्थिति की समीक्षा करेंगे। चेन्नई में गणितीय विज्ञान संस्थान के अनुसार, केरल और पूर्वोत्तर राज्य उन क्षेत्रों में से हैं जहां आर-वैल्यू (वो दर  जिस पर देश में कोविड -19 संक्रमण फैल रहा है) बढ़ रहा है। केरल का आर-वैल्यू 1.11 के आसपास बना हुआ है।


केंद्र ने पहले ही केरल में छह सदस्यीय मल्टी डिसीप्लीनरी टीम भेजी है, जो वहां कोविड -19 महामारी की स्थिति की निगरानी करेगी और राज्य में संक्रमण के प्रसार को नियंत्रित करने के उपाय सुझाएगी। राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र (एनसीडीसी) के निदेशक डॉ सुजीत सिंह के नेतृत्व में विशेषज्ञों की टीम शुक्रवार रात तिरुवनंतपुरम पहुंची।

टीम के सदस्य ने कहा कि पॉजिटिविटी रेट में वृद्धि बड़ी चिंता है। हर जगह मामले घट रहे हैं और केरल में बढ़ना जारी है। उन्होंने कहा कि हम राज्य के साथ इस पर चर्चा करें। यह एक व्यापक स्थिति है, देखते हैं कि चीजें कैसे सुधरती हैं। केरल ने शुक्रवार को 20,000 से अधिक नए संक्रमणों की सूचना दी, जो लगातार चौथे दिन एक दिन में भारत के कुल कोविड -19 टैली का 50 प्रतिशत है। राज्य की टेस्ट पॉजिटिविटी रेट बढ़कर 13.61 फीसदी हो गई है।


पूरे देश की बात करें तो भारत में बीते 24 घंटे में कोरोना के 41,649 मामले सामने आए हैं, जो कि कल की तुलना में कम हैं। स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, शुक्रवार को 44,230 नए मामलों की पुष्टि हुई थी। रिकवरी रेट की बात करें तो अब यह 97 प्रतिशत से अधिक है। बीते 24 घंटे में 37,291 मरीजों ने इस महामारी को मात दी है। इसके साथ ही देश में कोरोना से स्वस्थ होने वाले लोगों की संख्या 3,07,81,263 हो चुकी है। 

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से शनिवार को सुबह आठ बजे जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, देश में अभी 4,08,920 लोगों का कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज चल रहा है, जो कुल मामलों का 1.29 प्रतिशत है। पिछले 24 घंटे में उपचाराधीन मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी दर्ज की गई। मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर 97.37 प्रतिशत है। इसके अलावा बीते 24 घंटे में 593 मरीजों की जान चली गई है। इसके साथ ही देश में भी तक 4,23,810 मरीजों की मौत हो चुकी है।