मुंबई| वित्तीय वर्ष 2021-22 की दो तिमाही लगभग बीत चुकी हैं और तीसरी तिमारी शुरू होने वाली है। अक्टूबर से दिसम्बर की यह तीसरी तिमाही फ़िल्म इंडस्ट्री के लिए बेहद अहम है, क्योंकि इन तीन महीनों में फेस्टिव सीज़न के मद्देनज़र फ़िल्म कारोबार को सबसे अधिक फ़ायदा होता है। अक्टूबर से दिसम्बर तक दशहरा, दिवाली और क्रिसमस जैसे बड़े त्योहार आते हैं। उत्सव का माहौल और छुट्टियां मनोरंजन इंडस्ट्री के लिए उत्प्रेरक का काम करते हैं।
चालू वित्तीय वर्ष की दो तिमाही कोरोना वायरस पैनडेमिक की भेंट चढ़ने के बाद अब फ़िल्म कारोबारियों की नज़र इसी तीसरी तिमाही पर है। देश के कई राज्यों में सिनेमाघर और मल्टीप्लेक्स कोरोना गाइडलाइंस के साथ खुल चुके हैं, मगर हिंदी फ़िल्म इंडस्ट्री के लिए सबसे अहम महाराष्ट्र में अभी भी सिनेमाघर बंद हैं।