Tuesday, 22 January 2019, 12:09 PM

धर्म कर्म

इस समय शनि किस राशि पर है भारी जानिए, शुभ-अशुभ प्रभाव

Updated on 29 July, 2016, 8:00
शनि को ग्रहों में सर्वोच्च न्यायाधीश कहा गया है जो अनुचित कार्य करने वालों को समय आने पर दंड देता है।  शनि को सूर्य पुत्र भी कहा जाता है परंतु जब कुंडली में यह दोनों ग्रह ,एक ही भाव में हों या परस्पर दृष्टि संबंध हो तो अनिष्ट फल देते... आगे पढ़े

जानिए, कब कष्टदायी होती है शनि की साढ़ेसाती

Updated on 29 July, 2016, 7:59
भारतीय ज्योतिष शास्त्र में शनि की गणना सर्वाधिक प्रभावशाली ग्रह के रूप में की गई है। यह जितना अनिष्ट फल प्रदायक है उतना ही उत्कृष्ट और अभीष्ट फलदायक भी है।   विश्व के 25 प्रतिशत व्यक्ति शनि की साढ़ेसाती और 16.66 प्रतिशत व्यक्ति इसकी ढैया के प्रभाव में सदैव रहते हैं। तो क्या... आगे पढ़े

गुरु को मिलेगी शनि की दृष्‍टि से निजात, राशि परिवर्तन दे रहा है बड़े उलट फेर के संकेत

Updated on 28 July, 2016, 10:00
शास्त्रनुसार बृहस्पति देव सर्वाधिक शुभ माने जाते हैं। बृहस्पति धनु व मीन के स्वामी हैं। कर्क में वह उच्च व मकर राशि में नीच के माने जाते हैं। गुरु परम उच्च या परम नीच केवल 5 अंश तक रहते हैं। सूर्य, चन्द्र एवं मंगल के मित्र कहे जाते हैं। बुध... आगे पढ़े

सावन के बृहस्पतिवार का उपाय: तिजोरी में छुपाएं यह सामान, 43 दिन के बाद होगा चमत्कार

Updated on 28 July, 2016, 7:58
बृहस्पतिवार को भगवा अथवा गेरुआ रंग के कपड़े पहनें, पूजन के लिए पीले रंग के आसन का प्रयोग करें। किसी प्राण प्रतिष्ठित शिवलिंग अथवा घर में विराजित पारद शिवलिंग का विधिवत पूजन करें। सर्वप्रथम शिवलिंग को पानी में कुशा मिलाकर स्नान करवाएं। शिवलिंग पर पीला कच्चा सूत अथवा मौली चढ़ाएं।... आगे पढ़े

यमुना नदी में मिला तैरता पत्थर, पत्थर को देखने के लिए उमड़ी भीड़

Updated on 27 July, 2016, 21:21
करनाल ज़िले के गांव मोहीदीनपुर में आजकल एक पत्थर चर्चा का विषय बना हुआ है. न केवल गांव में बल्कि आसपास के गांवों तक इस शिला की चर्चा है. दरअसल गांव के पास यमुना नदी में मिला ये पत्थर पानी में तैरता है और आस्था रखने वाले लोगों का तर्क... आगे पढ़े

50 साल बाद सावन में बन रहा है ऐसा संयोग...

Updated on 27 July, 2016, 0:31
भगवान शिव की भक्ति का महीना सावन शुरू होने वाला है और इस बार सावन कई अदभुत योग लेकर रहा है. ज्योतिषाचार्यों की मानें तो 50 वर्ष बाद सावन में ऐसा योग बन रहा है, जिसमें रोजगार में तरक्की, आय में वृद्धि ज्ञान और कृषि के क्षेत्र में उन्नति की... आगे पढ़े

पाकिस्तान से चलकर हरिद्वार पहुंचे 150 कांवड़िए, दिल खोलकर स्वागत

Updated on 26 July, 2016, 14:28
नई दिल्ली। हरिद्वार में इन दिनों आस्था का एक अद्भुद नजारा देखने को मिला। जब पाकिस्तान से 150 कांवड़िए हरिद्वार पहुंचे और हरिद्वार की जमीन पर आस्था का एक नया रंग दिखाई दिए। पाकिस्तान से हकिद्वार पहुंचे से सभी कांवड़िए भोले बाबा की भक्ति में लीन दिखाई दिए। सबसे पहले... आगे पढ़े

बिसरख में स्थापित होगी रावण की मूर्ति

Updated on 26 July, 2016, 0:01
ग्रेटर नोएडा बिसरख में 11 अगस्त को रावण के साथ-साथ भगवान श्रीराम की मूर्ति की भी स्थापना होगी। श्री लंकेश रावण मंदिर बिसरख धाम के ट्रस्टी ने दावा किया है कि यह पहला मंदिर होगा, जहां रावण के साथ-साथ भगवान श्रीराम की मूर्ति की स्थापना की जाएगी। रावण का मंदिर बनकर तैयार... आगे पढ़े

शिवपुराण: कुबेर के खजाने तक पंहुचने के लिए रात को करें ये उपाय

Updated on 25 July, 2016, 9:23
वर्तमान समय में सावन का महीना चल रहा है। भोलेनाथ को प्रसन्न करने के लिए यह सर्वोत्तम माह है। इन दिनों किया गया भजन, उपाय, अनुष्ठान, व्रत अक्षय गुणा पुण्य देता है। जब धन प्राप्ति के सारे उपाय असफल हो जाते हैं, तब शिवजी के परम मित्र कुबेर की आराधना... आगे पढ़े

इस मंदिर के फर्श पर सोने से प्रेगनेंट हो जाती हैं औरतें!

Updated on 25 July, 2016, 9:15
निसंतान लोग संतान के लिए क्या क्या नहीं करते। ऐसा ही कुछ हिमाचल प्रदेश के एक गांव में होता है। हिमाचल के सिमस गांव में एक ऐसा मंदिर है जिसके फर्श पर सोने से निसंतान महिलाएं प्रेगनेंट हो जाती हैं। कहते हैं कि खुद देवी मां उनको सपनों में आकर... आगे पढ़े

सावन: सोमवार को धारण करें यह कवच, खुद को बनाएं देवताओं की तरह शक्तिशाली

Updated on 24 July, 2016, 13:09
शिवपुराण के अनुसार जब तारकासुर के पराक्रम से सभी देवगण त्रस्त हो गए तो वे भगवान रुद्र के पास अपनी दुर्दशा सुनाने तथा तारकासुर से त्राण पाने के लिए गए। भगवान शिव ने उनका दुख दूर करने के लिए दिव्यास्त्र तैयार करने के लिए सोचा और इस दिव्यास्त्र को तैयार... आगे पढ़े

अनोखा प्रसाद! जिसे खाने से पूरी होती है बच्चे की मुराद

Updated on 24 July, 2016, 9:11
लिंग रूप में भगवान शिव की पूजा तो कई जगह पर होती है लेकिन मां शक्ति की लिंग रूप में पूजा होते आपने कहीं नहीं देखा होगा। क्या आपको पता है कि छत्तीसगढ़ के अलोर गांव की एक पहाड़ी पर स्थित एक अनोखे मंदिर में मां शक्ति की लिंग रूप में... आगे पढ़े

रहस्यमयी मंदिर में सिर्फ प्रसाद खाता है ये शाकाहारी मगरमच्छ

Updated on 22 July, 2016, 0:13
मरगमच्छ अगर आपके सामने अचानक आ जाए तो आपकी जान हलक में आ जाएगी। लेकिन एक ऐसी भी जगह है जहां लोग एक मगरमच्छ के दर्शन करने दूर दूर से आते हैं। इस मगरमच्छ की खास बात यह है कि यह पूरी तरह से शाकाहारी है और सिर्फ प्रसाद ही... आगे पढ़े

उपाय: सावन के गुरुवार शिव बनकर ताड़केश्वर, हर लेंगे दुर्भाग्य

Updated on 21 July, 2016, 0:10
सावन के महीने में पृथ्वी पर हर ओर हरियाली की मखमली चादर पसर जाती है। प्रकृति की समस्त कृतियां अपने सर्वोत्तम स्तर पर होती हैं। शिव और सावन एक-दूसरे के पूरक हैं। बृहस्पति ज्ञान के देवता हैं अतः 21 जुलाई को एक अद्भुत संयोग है जहां एक तरफ संघारक शिव... आगे पढ़े

सावन विशेष: भगवान शिव ने काटा था ब्रह्मा का सिर, पश्चाताप के लिए की थी इस मंदिर में पूजा

Updated on 20 July, 2016, 18:33
मध्यप्रदेश की उज्जैन नगरी में स्थित कपालेश्वर महादेव मंदिर का सभी 84 महादेवों में विशेष स्थान है. माना जाता है कि क्रोध में ब्रह्मा का सिर काटने के बाद पश्चाताप के लिए भगवान शिव ने यहीं आकर पूजा की थी, जिससे उन्हें ब्रह्म हत्या से मुक्ति मिल गई थी. पौराणिक कथाओं के अनुसार... आगे पढ़े

सावन के महीने में इन चीजों को खाने से भोलेनाथ होते हैं नाराज

Updated on 18 July, 2016, 9:17
सावन के महीने में शिवलिंग की पूजा की जाती है और शिवाभिषेक, रुद्राभिषेक आदि भी किया जाता है जिससे भगवान शिव की कृपा हम पर बनी रहे। हमें सबके साथ आत्मीयता का भाव रखना चाहिए, अच्छा व्यवहार करना चाहिए। भगवान शिव के साथ शिवगण, रुद्रगण, भूत-प्रेत, सांप जैसे जहरीले प्राणी... आगे पढ़े

4 महीने करें यह कर्म, जन्मों तक वैभवशाली होकर स्वर्ग में जाकर इन्द्र जैसा सुख भोगेंगे

Updated on 17 July, 2016, 0:29
पदमपुराण के अनुसार जिन दिनों में भगवान विष्णु शयन करते हैं उन चार महीनों को चातुर्मास एवं चौमासा भी कहते हैं। देवशयनी एकादशी से हरिप्रबोधनी एकादशी तक चातुर्मास 15 जुलाई से 11 नवम्बर तक चलेगा, इन चार मासों में विभिन्न कर्म करने पर मनुष्य को विशेष पुण्य लाभ की प्राप्ति होती... आगे पढ़े

शिंगणापुर कैसे पहुंचे शनिदेव?

Updated on 16 July, 2016, 9:45
महाराष्ट्र के शिंगणापुर धाम में शनि महाराज की कोई मूर्त नहीं है बल्कि एक बड़ा सा काला पत्थर है जिसे शनि का विग्रह माना जाता है। शनि के प्रकोप से मुक्ति पाने के लिए देश-विदेश के लोग यहां आते हैं और शनि विग्रह की पूजा करके शनि के कुप्रभाव से... आगे पढ़े

एसी बंद होते ही काली माता को आ जाता है पसीना, जानिए क्या है राज

Updated on 15 July, 2016, 21:43
जबलपुर, कई बार आंखों के सामने कुछ ऐसा होता है, जिसे देखकर अपनी ही आंखों पर भरोसा नहीं होता। ऐसा ही कुछ लोगों के साथ तब हुआ जब एक मंदिर में एसी बंद होते ही काली माता को पसीना आने लगा। ये कोई पहला मौका नहीं था बल्कि एसी के... आगे पढ़े

धर्म ग्रंथों से: आज की रात है खास, न करें ये काम

Updated on 15 July, 2016, 9:20
आज आषाढ़ मास की एकादशी तिथि है। इसे हरिशयनी, देवशयनी, पदमा एवं शयन एकादशी के नाम से जाना जाता है।  शास्त्रों के अनुसार भगवान को एकादशी तिथि अति प्रिय है तथा नदियों में गंगा को जो स्थान प्राप्त है वही स्थान व्रतों में एकादशी को प्राप्त है। कहा जाता है... आगे पढ़े

क्या कहता है आपके दांतों के बीच का गैप?

Updated on 14 July, 2016, 1:19
हममे से कई लोगों के दांतों के बीच गैप होता है। दांतों के गैप से स्माइल करना मुश्किल हो जाता है और इससे हमारी खूबसूरती भी प्रभावित होती है। लेकिन दांतों के गैप वाले लोगों का ज्योतिष के अनुसार उनका व्यक्तित्व कैसा होता है, उनकी क्या खासियत होती हैं, हम... आगे पढ़े

चार राज्यों के अफसरों की बैठक, कांवड़ यात्रा में डीजे, हथियार प्रतिबंधित

Updated on 13 July, 2016, 9:57
कांवड़ यात्रा में डीजे, हाकी, धारदार हथियार, गैस सिलेंडर और नशीले पदार्थ प्रतिबंधित होंगे। बिना परमिट कोई वाहन नहीं चलेगा।   हरिद्वार में पुलिस का एकीकृत कंट्रोल रूम बनेगा। इसमें उत्तर प्रदेश, हरियाणा, राजस्थान के पुलिस अधिकारी समन्वय के लिए यात्रा के दौरान तैनात रहेंगे। मंगलवार सुबह देहरादून सचिवालय में मुख्य सचिव... आगे पढ़े

इन उपायों से विघ्नहर्ता गणेश को करें प्रसन्न

Updated on 13 July, 2016, 9:39
शास्त्रों में गणनायक गणेश की आराधना का विशेष महत्व है. प्रथम पूज्य गौरी पुत्र की पूजा के बिना किसी भी देवी-देवता की पूजा पूरी नहीं मानी जाती. यहां जानें भगवान गणेश को प्रसन्न करने के कुछ खास उपाय.. - बुधवार के दिन सुबह स्नान करके गणेश जी को दूर्वा की 11 या... आगे पढ़े

आज भी खड़ा है संजीवनी बूटी वाला पहाड़

Updated on 12 July, 2016, 13:12
रामायण का लंका कांड। युद्ध के मैदान में लक्ष्मण और मेघनाद एक दूसरे से जूझ रहे थे। इस बीच मेघनाद ने चला दी शक्ति, बाण लक्ष्मण के सीने में लगा। मूर्छित हो गए लक्ष्मण। विभीषण के कहने पर लंका से वैद्य सुषेण को बुलाया गया। सुषेण ने आते ही कहा कि... आगे पढ़े

तीन दिनों बाद फिर शुरू हुई अमरनाथ यात्रा, श्रद्धालुओं ने की थी अपील

Updated on 12 July, 2016, 11:30
तगड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच सोमवार की शाम से अमरनाथ यात्रा दोबारा शुरू हो गई है. हिजबुल मुजाहिद्दीन के युवा कमांडर बुरहान वानी के मारे जाने के बाद कश्मीर में हिंसक प्रदर्शन के चलते अमरनाथ यात्रा तीन दिनों से रुकी हुई थी. जम्मू के उपायुक्त सिमरनदीप सिंह ने कहा, ‘अमरनाथ यात्रा... आगे पढ़े

जानें, अंजनी पुत्र हनुमानजी की जन्‍मकथा के बारे में...

Updated on 12 July, 2016, 9:41
हनुमान जी का जन्म त्रेता युग मे अंजना के पुत्र के रूप में चैत्र शुक्ल की पूर्णिमा की महानिशा में हुआ. अंजना के पुत्र होने के कारण ही हनुमान जी को अंजनेय नाम से भी जाना जाता है जिसका अर्थ होता है 'अंजना द्वारा उत्पन्न'. उनका एक नाम पवन पुत्र... आगे पढ़े

मंगलवार को करें यह प्रयोग, चुटकियों में पूरे होंगे बिगड़े काम

Updated on 11 July, 2016, 2:02
जिस पर हनुमान जी की कृपा होती है उसके सारे कार्य पूर्ण हो जाते हैं। एकादश रुद्रावतार हनुमान जी मंगल के अधिष्टाता हैं। राम भक्त हनुमान जी की पूजा-उपासना के लिए मंगलवार अौर शनिवार का दिन विशेष महत्व रखता है। जब हनुमान जी का जन्म हुआ तो उस दिन मंगलवार... आगे पढ़े

जैन मुनि के अंतिम संस्कार के लिए लगीं 7 करोड़ की बोलियां

Updated on 10 July, 2016, 9:50
मुंबई, भारत और दूसरे देशों के जैन समुदाय के लोगों ने जैन मुनि रवींद्रसूरिजी महराजसाहेबजी (62) के अंतिम संस्कार के लिए सामूहिक रूप से 7 करोड़ रुपए की बोली लगाई। जैन मुनि रवींद्रसूरिजी का पिछले हफ्ते मध्य प्रदेश के राजगढ़ में निधन हो गया था। दरअसल, जैन समुदाय में यह... आगे पढ़े

यह व्रत करके 88 हजार ब्राह्मण भोज का पुण्य लीजिए

Updated on 10 July, 2016, 0:10
योगिनी एकादशी व्रत के संदर्भ में एक बहुत ही रोचक कथा है। इसके अनुसार अलकापुरी के राजा कुबेर शिव भक्त थे। उनका एक हेम नामक सेवक था। हेम उनके बागों की देखभाल करता था। हर सुबह का उसका काम था कि वह मानसरोवर से राजा की शिव-पूजा के लिए फूल चुनकर... आगे पढ़े

ओडिशा में है एक ऐसा भी स्थान, जहां नहीं होती रथयात्रा

Updated on 9 July, 2016, 20:11
पूरे ओडिशा और उसके बाहर भी बुधवार को भगवान जगन्नाथ के मंदिरों में रथयात्राएं निकाली गईं, लेकिन गंजाम के मरदा में 300 साल पुराने मंदिर में यह अनुष्ठान नहीं हुआ. मरदा के इस मंदिर में कोई देवी-देवता नहीं हैं. सन् 1733-35 के दौरान जब कलिंग शैली के मंदिरों को मुस्लिम आक्रमणकारी... आगे पढ़े

Market Live

18+