Sunday, 16 December 2018, 11:36 AM

धर्म कर्म

असली नागलोक को देख फटी रह गई सबकी आंखें, श्रद्धालुओं की भीड़ को संभालना हुआ मुश्किल

Updated on 4 September, 2016, 7:03
आपने आज तक कथा और पुराणों में नाग लोक का नाम और उसके बारे में कई कहानियां सुनी होंगी, लेकिन एमपी में भी एक नागलोक है जहां लोग रोज पूजा-पाठ करने जाते हैं. इस नाग लोक में आधे दर्जन से ज्यादा नाग मौजूद हैं, लेकिन वो कभी किसी को नुकसान... आगे पढ़े

4 और 5 सितंबर को न देखें चांद, चरित्र पर लग सकता है दाग

Updated on 3 September, 2016, 11:27
गणेशोत्सव अर्थात गणेश चतुर्थी के दिन प्रात:काल स्नानादि से निवृत्त हो कर गणेश जी की प्रतिमा को कोरे कलश में जल भर कर तथा उसके मुंह पर कोरा कपड़ा बांध कर उस पर या फिर चौकी पर स्थापित किया जाता है। फिर गणेश जी की मूर्त पर सिंदूर चढ़ा कर... आगे पढ़े

जानिए, कलयुग के भगवान शनि देव कैसे देते हैं सुख और दुख

Updated on 3 September, 2016, 0:05
शनि से सुख और दुख  शनि की पश्चिम दिशा है, स्वभाव तीक्ष्ण है और गुण तमो है। सूर्य, चंद्र और मंगल शनि के शत्रु हैं। शनि जिस भाव में होते हैं, उससे तीसरे, सातवें तथा दसवें भाव पर अपनी दृष्टि डालते हैं।      वायु तत्व प्रधान भगवान कलियुग में भी निष्पक्ष न्याय में... आगे पढ़े

समुद्रशास्‍त्र के अनुसार यह न‌िशानी हैं नपुंसकता की

Updated on 2 September, 2016, 12:26
समुद्रशास्‍त्र ज‌िसकी रचना भगवान श‌िव के पुत्र कार्त‌िकेय ने की है ऐसा माना जाता है। इसमें शरीर के अंगों पर मौजूद च‌िन्ह, हथेली में मौजूद रेखाओं और शरीर की बनावट के आधार पर व्यक्त‌ि के गुण, स्वभाव, धन, प्रेम, व‌िवाह और संतान के बारे में भव‌िष्यवाणी की गई है। इसमें... आगे पढ़े

कुशग्रहणी अमावस्या: करें शनि परिवार का पूजन, मिलेगी तन और धन के कष्टों से मुक्ति

Updated on 1 September, 2016, 6:00
1 सितंबर बृहस्पतिवार को कुशग्रहणी अमावस्या है। यह तिथि पूर्वान्ह्व्यापिनी मानी जाती है। सनातन धर्म के बहुत सारे धार्मिक कार्यों में कुश का उपयोग करना अनिर्वाय है। इसे देवी-देवता प्रसन्न होते हैं और अपना आशीर्वाद बनाए रखते हैं। श्लोक: कुशा: काशा यवा दूर्वा उशीराच्छ सकुन्दका:। गोधूमा ब्राह्मयो मौन्जा दश दर्भा: सबल्वजा:॥ शास्त्रों में... आगे पढ़े

1 सितंबर को लग रहा है सूर्य ग्रहण, क्या होगा असर

Updated on 31 August, 2016, 0:11
1 सितंबर 2016 गुरुवार को सूर्य ग्रहण लग रहा है। इसी दिन भाद्रपद माह की अमावस्या भी है। हालांकि यह ग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा इसलिए इसका सूतक भी मान्य नहीं होगा। दरअसल, ऐसी मान्यता है कि ग्रहण का सूतक वहीं माना जाता है जहां ग्रहण दिखाई देता है।... आगे पढ़े

आज है मासिक शिवरात्रि: खास मंत्रों से करें अपना बेड़ा पार

Updated on 30 August, 2016, 2:16
भोले बाबा बहुत भोले हैं, उन्हें प्रसन्न करने के लिए खास प्रयत्न नहीं करने पड़ते। वह अपने भक्तों पर शीघ्र प्रसन्न हो कर उन्हें मुंह मांगा फल प्रदान करते हैं। आज मासिक शिवरात्रि है, जो जटाधारी शिव शंभु के प्रिय दिनों में से एक है। शिवरात्रि पर करें समस्या के... आगे पढ़े

संडे पर सूर्य-राहू की युति किस राशि को होगी आर्थिक क्षति

Updated on 28 August, 2016, 0:04
दैनिक शुभाशुभ: 28.08.16 रविवार चंद्र मिथुन राशि व आर्द्रा नक्षत्र, भाग्यांक 9, शुभरंग लाल, शुभदिशा दक्षिण, राहुकाल शाम 4:30 से सायं 6 तक।  दैनिक उपाय: सभी 12 राशियों के जातक आर्थिक नुकसान से बचने हेतु बेडरूम में चमेली के तेल का दीपक जलाएं।  मेष: रविवार को भी बिजी रहेंगे। समय घरेलू कार्यों... आगे पढ़े

रविवार को छुट्टी का दिन मानकर न करें ये काम, पाप के भागी बनेंगे आप

Updated on 28 August, 2016, 0:01
रविवार 28 अगस्त 2016 को अन्नदा एकादशी है। ये दिन भगवान विष्णु को अति प्रिय है। पद्म पुराण में कहा गया है जो व्यक्ति एकादशी व्रत करता है उसके लिए मोक्ष के द्वार खुल जाते हैं। एकादशी के दिन कुछ ऐसे नियम हैं जिनका पालन करना हर व्यक्ति के लिए... आगे पढ़े

शनिवार को न खरीदें ये सामान, बरसेगा शनिदेव का प्रकोप

Updated on 27 August, 2016, 0:09
रोजमर्रा की भागदौड़ के बाद जब शनिवार आता है तो रिलैक्स का अनुभव होता है। अधिकतर लोग इसे हफ्ते का सबसे अच्‍छा दिन मानते हैं और खरीदारी करने के लिए भी इसी दिन को चुनते हैं। शनिवार शनिदेव का दिन होता है, कोई भी ऐसा सामान इस दिन नहीं खरीदना... आगे पढ़े

शुक्रवार, नन्दोत्सव और रोहिणी नक्षत्र का मेल लक्ष्मी जी भरेंगी आपकी खाली जेब

Updated on 26 August, 2016, 10:10
दस महाविद्याओं में कमला दसवीं महाविद्या हैं। कमला ही लक्ष्मी हैं व महाविष्णु की शक्ति व सदाशिव की अधिष्ठात्री देवी हैं। कमला के भैरव ‘‘नारायण भैरव’’ हैं। कमला की कृपा के बिना जीवन कष्टप्रद, अभावग्रस्त व नर्क के समान है। दीर्घायु, धन, मान सम्मान व राज्यपद प्राप्त करने हेतु कमला... आगे पढ़े

ज्योतिष की चेतावनी: इस योग के कारण मचने वाला है देश और दुनिया में हाहाकार!

Updated on 26 August, 2016, 0:12
भारतीय ज्योतिष में बृहस्पति ग्रह को भाग्य, धर्म, अध्ययन, ज्ञान विवेक, मोक्ष, दांपत्य में स्थिरता, यात्रा, क्रय-विक्रय, शयनकक्ष व अस्वस्थता व उपचार का कारक माना जाता है। बृहत पाराशर होरा शास्त्रनुसार नवग्रह में से बृहस्पति सर्वाधिक रूप से मनुष्य पर प्रभाव डालता है। कालपुरुष सिद्धांतानुसार बृहस्पति को सातवें और नवें... आगे पढ़े

कृष्ण की लीलाओं में मग्न लोग, 12 बजे होगा जन्म

Updated on 25 August, 2016, 23:42
मथुरा, भगवान श्रीकृष्ण की नगरी मथुरा गुरुवार को लघु भारत के रूप में दिख रही है। श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर देश के अधिकांश राज्यों से आए श्रद्धालुओं ने शहर की सड़कों पर विभिन्न राज्यों की झांकी प्रस्तुत की। तरह-तरह की बोली, तरह-तरह की वेशभूषा। मानो सांस्कृतिक इंद्रधनुष हो।   श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के दिन... आगे पढ़े

यहां आज भी रास रचाते हैं कान्हा, सुनाई देती हैं आवाजें, लेकिन कोई देख नहीं पाता

Updated on 25 August, 2016, 11:29
भारत में ऐसी कई जगह हैं, जो कई अपने रहस्यों के कारण हमेशा चर्चा का विषय बनी रहती हैं. कान्हा की नगरी मथुरा वृंदावन में निधिवन ऐसी ही एक जगह है जो अपने रहस्य के लिए जानी जाती है. मान्यता है कि वृंदावन में स्थित निधिवन में आज भी हर रात... आगे पढ़े

श्री कृष्ण की कुण्डली से जानिए, किस तरह रहा उनके जीवन पर ग्रहों का प्रभाव

Updated on 25 August, 2016, 11:29
द्वापर युग में भगवान श्रीकृष्ण ने भाद्रपद की अष्टमी बुधवार रोहिणी नक्षत्र में अवतार लिया। भगवान श्रीकृष्ण ने अपनी महान लीलाआें के माध्यम से समाज को बताया कि महान व्यक्तियोंं को न केवल कठिनाइयों को बर्दाश्त करना पड़ता है, बल्कि उनसे प्यार भी करना पड़ता है।    भगवान श्रीकृष्ण ने महाभारत में... आगे पढ़े

इस 'कानुड़ा' के लिए सेठ-साहुकार भी करते हैं मनुहार, आप भी जानें- इनके ये 10 अनूठे रीति-रिवाज

Updated on 25 August, 2016, 7:17
भगवान श्रीकृष्ण जन्मोत्सव यूं तो भारतवर्ष में एक ही दिन जन्माष्टमी के रूप में मनाया जाता है. लेकिन यहां का कृष्ण जन्मोत्सव शायद सबसे जुदा हैं. गांव-ढाणियों में यहां मिट्‌टी का कानुड़ा (कान्हा) बनाया जाता है और इसी के साथ शुरू हो जाती है वर्षों से चली आ रही परम्पराओं... आगे पढ़े

ऐसे हुई थी श्री कृष्ण की मृत्यु, पुत्र की वजह से गए थे प्राण, खत्म हो गया था यदुवंश

Updated on 25 August, 2016, 1:07
जन्माष्टमी श्री कृष्ण के जन्मोत्सव के रूप में मनाई जाती है, लेकिन क्या आपको पता है कि श्री कृष्ण की मृत्यु् कैसे हुई थी? कैसे उनके यदुवंश का नाश हुआ? आइए आपको बताते हैं श्री कृष्ण की मृत्यु् और यदुवंश के विनाश के कारण। 1. महाभारत का युद्ध महाभारत, कौरवों और पांडवों... आगे पढ़े

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर करें उपाय, शनि संबंधित सभी दोष होंगे दूर

Updated on 25 August, 2016, 1:05
कल श्रीकृष्ण जन्माष्टमी है, इस दिन भगवान के प्रेमी भक्त उन्हें प्रसन्न करने के लिए हर संभव प्रयास करते हैं। मुरली मनोहर के बहुत सारे भक्त हैं जिनमें शनिदेव को उनका अनन्य भक्त माना जाता है। तभी तो शनिदेव का एक नाम कृष्णदास भी है। शनिदेव की कृष्ण भक्ति से... आगे पढ़े

अद्भुत आस्था केंद्र: शक्करबार शाह की दरगाह, जन्माष्टमी पर लगता है मेला

Updated on 24 August, 2016, 16:29
राजस्थान में एक दरगाह ऐसी भी हैं जहां श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर्व पर मेला लगता है। झुंझुनू जिले के नरहड़ कस्बे में स्थित पवित्र शक्करबार शाह की दरगाह, कौमी एकता की जीवन्त मिसाल है। इस दरगाह की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि यहां सभी धर्मों के लोगों को अपनी-अपनी धार्मिक... आगे पढ़े

भगवान श्री कृष्‍ण की ऐसी 10 लीलाएं ज‌िनसे लोगों ने इन्हें भगवान माना

Updated on 24 August, 2016, 8:02
भगवान राम और श्री कृष्‍ण दोनों ही भगवान व‌िष्‍णु के अवतार माने जाते हैं लेक‌िन भगवान राम ने कभी इस बात को नहीं जताया क‌ि उनमें ईश्वरीय शक्त‌ि है। राम ने सामान्य मनुष्‍य की भांत‌ि पत्नी के व‌िराह में आंसू बहाए, पत्नी के व‌ियोग में भूम‌ि पर सोए। दूत भेजकर... आगे पढ़े

52 साल बाद जन्माष्टमी पर अनूठा संयोग, पूरी होंगी सारी मनोकामनाएं

Updated on 23 August, 2016, 19:53
इस बार भगवान कृष्ण के जन्मोत्सव का पावन त्योहार 52 साल बाद अनूठा संयोग लेकर आ रहा है, जब माह, तिथि वार और चंद्रमा की स्थिति वैसी बनी हुई है जैसी भगवान कृष्ण के जन्म के समय थी। पहले ऐसा योग वर्ष 1958 में बना था। मान्यता है कि भगवान कृष्ण... आगे पढ़े

श्रावणी मेला: 15 अगस्‍त तक 34 लाख 37 हजार कांवरियों ने बाबा बैद्यनाथ में जलाभिषेक

Updated on 19 August, 2016, 9:55
20 जुलाई से शुरू हुए श्रावणी मेला 2016 में पिछले 15 अगस्त तक लगभग 34 लाख 37 हजार कांवरियों ने देवघर मंदिर में बाबा बैद्यनाथ का जलाभिषेक किया, जिनमें खासकर सवा लाख से अधिक बाल कांवरियों ने भी बाबा का जालभिषेक किया. इस बात की जानकारी देवघर के उपायुक्त अरवा राजकमल... आगे पढ़े

आज शुरू हो रहा है पारसी नववर्ष- नवरोज

Updated on 19 August, 2016, 9:54
19 अगस्त को पारसी नववर्ष शुरू हो रहा है। लगभग 3000 वर्ष पूर्व शाह जमशेद जी ने पारसी धर्म में ‘नवरोज’ मनाने की शुरूआत की। नव अर्थात नया और रोज यानी दिन। पारसी धर्मावलंबियों के लिए इस दिन का विशेष महत्व है। नवरोज के दिन पारसी परिवारों में बच्चे, बड़े... आगे पढ़े

बिजनैस और संबंधों में आ सकती है दरार, खास योग जता रहे हैं बड़े खतरे की आशंका!

Updated on 19 August, 2016, 9:16
आज भारतीय समाज में नवविवाहित जोड़ों में लगभग 25% प्रतिशत दम्पति पहले दो साल में ही तलाक लेने को प्रेरित हो जाते हैं। समाज का हर वर्ग गरीब-अमीर, पढ़ा- लिखा, विद्वान व अनपढ़ विवाह के मामले में ज्योतिष पर निर्भर करता है। विवाह न ही सिर्फ दो देह का मिलन... आगे पढ़े

आज से शुरू होगा अशुभ नक्षत्रों का दौर, 22 तक रहेगा प्रभाव

Updated on 18 August, 2016, 14:28
ज्योतिषशास्त्र में पंचक को मंगलसूचक नहीं माना जाता। पंचक के मात्र नाकारात्मक प्रभाव नहीं होते परंतु उसके सकारात्मक प्रभाव भी हैं। शुभ कार्यों, खास तौर पर देव पूजन में पंचक का विचार नहीं किया जाता।    ज्योतिष विद्वानों के अनुसार जब चन्द्रमा कुंभ और मीन राशि में रहता है उस समय को... आगे पढ़े

अमरनाथ यात्रा आज होगी संपन्न, पिछले 13 वर्ष में सबसे कम रही भक्तों की संख्या

Updated on 18 August, 2016, 7:37
श्रावण पूर्णिमा (रक्षाबंधन) पर छड़ी मुबारक के पवित्र गुफा में भगवान अमरेश्वर के हिमलिंग स्वरूप के दर्शन करने के साथ ही वीरवार को अमरनाथ यात्रा संपन्न होगी। बीते 40 दिन से यात्रा पर कश्मीर हिंसा का गहरा प्रभाव पड़ा है। इस साल 2.20 (2, 20399) लाख यात्री ही बाबा बर्फानी... आगे पढ़े

पद्मनाभस्वामी मंदिर की संपत्ति से 186 करोड़ के सोने के बर्तन गायब!

Updated on 16 August, 2016, 0:15
तिरुअनंतपुरम। केरल के मशहूर पद्मनाभस्वामी मंदिर की संपत्ति में से 186 करोड़ रुपये का सोना गायब हो गया है। ये गड़बड़ी तब पकड़ी गई जब विनोद राय कमेटी ने मंदिर की संपत्ति का ऑडिट किया। गौरतलब है कि अक्तूबर 2015 में सुप्रीम कोर्ट ने पूर्व सीएजी विनोद राय को मंदिर... आगे पढ़े

हर साल बढ़ती है इस शिवलिंग की लंबाई, इंची टेप से हाइट नापते हैं अधिकारी

Updated on 15 August, 2016, 14:42
अपनी कलाकृतियों के लिए विश्व प्रसिद्ध पर्यटन स्थल खजुराहो एक तीर्थ स्थल के रूप में भी जाना जाता है. यहां किसी समय 85 मंदिर होते थे, लेकिन अब गिने-चुने मंदिर ही शेष बचे हैं. 9वीं सदी में बने इन मंदिरों को शक्ति पूजा का बड़ा केंद्र माना जाता था. मध्यप्रदेश... आगे पढ़े

सितारों का संकेत: आर्थिक सुधारों की दवा चैन नहीं, दर्द देगी

Updated on 15 August, 2016, 0:19
मूल भारत वर्ष अस्तित्व में कब आया, इसका शायद कोई एक उत्तर न हो, पर विभाजन के पश्चात् भारत की वर्तमान भौगोलिक रेखा का निर्धारण 15 अगस्त, 1947 को रात्रि 12 बजे अर्थात् मध्य रात्रि के 12 बजे हुआ था। यदि इसी तिथि को वर्तमान भारत के जन्म की तारीख़... आगे पढ़े

नदियों के प्रति समर्पण का पर्व है 'पुष्करालु'

Updated on 14 August, 2016, 20:33
'पुष्करम पर्व' दक्षिण भारत की नदियों की पूजा के लिए समर्पित एक प्रसिद्ध त्योहार है। आंध्र प्रदेश में इस पर्व को 'पुष्करालु' कहा जाता है। आंध्र प्रदेश में यह त्योहार कृष्णा नदी के तट पर मनाया जाता है। यही वजह है कि यहां इसे 'कृष्णा पुष्करालु' कहते हैं। कृष्णा पुष्करालु... आगे पढ़े

Market Live

18+