Sunday, 18 November 2018, 1:22 AM

धर्म कर्म

पितरों के मोक्ष के लिए है इंदिरा एकादशी

Updated on 30 September, 2018, 13:45
एकादशी तिथि का हिंदू धर्म में आस्था रखने वालों के लिए खास महत्व है। प्रत्येक चंद्र मास में दो एकादशियां आती है। इस तरह साल भर में 24 एकादशियां आती है मलमास या कहें अधिक मास की भी दो एकादशियों को मिलाकर इनकी संख्या 26 हो जाती है। प्रत्येक एकादशी... आगे पढ़े

गुरु करेंगे राशि परिवर्तन, धर्म व राजनीति पर बढ़ेगा न्यायालय का दबाव

Updated on 28 September, 2018, 13:15
भोपाल। आकाश मंडल में ग्रहों का राशि परिवर्तन होता रहता है। ज्योतिष के अनुसार कुछ ग्रह दो ही दिन में राशि परिवर्तन कर लेते हैं। वहीं कुछ 15 दिन, एक महीना, एक साल व ढाई साल में राशि परिवर्तन करते हैं। आगामी 28 सितंबर को धर्म का कारक ग्रह देव... आगे पढ़े

यदि श्राद्ध पक्ष में किए गए धर्म-कर्म को पाखंड मानते हैं, तो यह खबर आपके लिए है

Updated on 28 September, 2018, 12:15
एक दिन की बात है। एक इंजीनियर साहब चहकते हुए आए और साथी कर्मचारी को एक 'व्हाट्सएप' कहानी सुनाने लगे। इसमें लिखा था-एक पंडितजी को नदी में तर्पण करते देख एक फकीर अपनी बाल्टी से पानी गिराकर जाप करने लगा। मेरी प्यासी गाय को पानी मिले। पंडितजी के पूछने पर... आगे पढ़े

नवरात्र में दो दिन मनाएंगे पंचमी, द्वितीया व तृतीया एक ही दिन

Updated on 27 September, 2018, 19:45
रायपुर। इस बार शारदीय (क्वांर) नवरात्र 10 अक्टूबर से शुरू होकर 18 अक्टूबर तक मनाई जाएगी। नवरात्र में द्वितीया और तृतीया तिथि एक ही दिन 11 अक्टूबर को मनाएंगे, पंचमी तिथि दो दिन 13-14 को मनाई जाएगी। देवी मंदिरों में नवरात्र की तैयारी जोरशोर से शुरू हो चुकी है। मंदिरों में... आगे पढ़े

आठ दिन की नवरत्रि में पांच बार रवि और एक बार सर्वार्थसिद्धि योग

Updated on 27 September, 2018, 12:45
उज्जैन। अश्विन मास के शुक्ल पक्ष की शारदीय नवरात्रि 10 अक्टूबर बुधवार को बुध चित्रा योग में आरंभ होगी। सालों बाद देवी आराधना का पर्वकाल दुर्लभ संयोगों से युक्त है। ज्योतिषियों के अनुसार आठ दिन की नवरत्रि में पांच बार रवि और एक बार सर्वार्थसिद्धि योग का संयोग बन रहा है।... आगे पढ़े

तो क्या शिव ने किया विष्णु के वंश का सर्वनाश

Updated on 27 September, 2018, 7:00
धर्म ग्रंथों के अनुसार भगवान शिव के 19 अवतार हुए हैं। उनमें से वृषभ अवतार भगवान शिव ने एक बैल के रूप में लिया क्योंकि उनकी माया से विष्णु जी बैकुण्ठ को छोड़ अप्सराओं संग पाताल में रहने लगे थे। उसी दैरान उनके राक्षसी प्रवृति के क्रूर पुत्र हुए। उनके... आगे पढ़े

gaya shradh: पितरों का श्राद्ध और तर्पण करने गया जा रहे हैं तो इन बातों को जान लें

Updated on 27 September, 2018, 6:20
गया प्राचीन काल से ही धार्मिक आस्था का केन्द्र रहा है। यह ना सिर्फ हिंदू धर्म को मानने वालों के लिए पूजनीय है बल्कि बौध धर्म की आस्था का भी प्रमुख स्थल है। इन दिनों पितृपक्ष चल रहा है जिसमें पितरों के लिए पिण्डदान और श्राद्ध किया जाता है। कई... आगे पढ़े

मृत्‍यु के आने से ठीक पहले मिलते हैं ऐसे संकेत, बस समझने की जरूरत

Updated on 26 September, 2018, 9:15
हर व्‍यक्ति यह भलीभांति जानता है कि एक न एक दिन उसके नश्‍वर शरीर को दुनिया से विदा लेनी ही है। मगर फिर भी मृत्‍यु के बारे में सोचकर हर किसी को घबराहट होती है। किसी व्‍यक्ति की मृत्‍यु अचानक नहीं होती है बल्कि वह अपने आने से पहले बहुत... आगे पढ़े

बेहद शुभ होता है पितृपक्ष, श्राद्ध में इन कामों को करने से मिलता है कई गुना लाभ

Updated on 26 September, 2018, 6:40
पितृपक्ष जो सामान्य जन में श्राद्ध के काल के रूप में प्रख्यात है, को मृत व्यक्तियों व पूर्वजों का पखवाड़ा कहा जाता है और कहीं-कहीं इसे अशुभ काल मान लिया जाता है, जो इस पावन कालखंड की बेहद त्रुटिपूर्ण व्याख्या है। समय के इस हिस्से में अपार संभावना छुपी हुई... आगे पढ़े

जानिए पितृ पक्ष में कौवे का क्यों है महत्व, अन्य देशों में भी क्यों है पूजनीय

Updated on 25 September, 2018, 12:15
धर्म ग्रंथों के अनुसार आश्विन कृष्ण पक्ष की प्रतिपदा तिथि से अमावस्या तक का समय श्राद्ध या महालय पक्ष कहलाता है। 24 सितंबर से श्राद्ध पक्ष शुरू हो चुके हैं। इस दौरान पितर यम लोक से 16 दिनों के लिए धरती पर आते हैं। साल में ये विशेष दिन होते... आगे पढ़े

16 दिन का होता है श्राद्धपक्ष, यदि तिथि नहीं पता हो, तो जानिए कब करें श्राद्ध

Updated on 25 September, 2018, 12:00
पितृ पक्ष भाद्रपद की शुक्ल चतुर्दशी से आरम्भ होकर आश्विन कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि तक चलेगा। पितरों को भोजन और अपनी श्रद्धा पहुंचाने का एकमात्र साधन श्राद्ध है। आमतौर पर श्राद्ध 16 दिन के ही होते हैं, लेकिन कभी-कभार एक ही दिन दो तिथियां पड़ने से इनकी संख्या घट-बढ़ सकती... आगे पढ़े

जानें, श्राद्ध और पिंडदान के बारे में क्या कहते हैं शास्त्र और पुराण

Updated on 25 September, 2018, 6:20
भाद्रपद के शुल्क पक्ष की पूर्णिमा तिथि के दिन से श्राद्ध पक्ष या फिर पितृपक्ष शुरू हो जाते हैं। श्राद्ध पक्ष के बारे में कहा जाता है कि इन दिनों पितर आशीर्वाद देने आते हैं। हिन्दू धर्म में माता-पिता की सेवा को सबसे बड़ी पूजा माना गया है। इसलिए हिंदू... आगे पढ़े

Pitru Paksh 2018: पितृ पक्ष आज से शुरू, जान लें कैसे करें श्राद्ध

Updated on 24 September, 2018, 9:25
पूर्णिमा तिथि के साथ ही आज से श्राद्ध पक्ष प्रारम्भ हो गया है। सोलह दिन के लिए हमारे पितृ घर में विराजमान होंगे। अपने वंश का कल्याण करेंगे। घर में सुख-शांति-समृद्धि प्रदान करेंगे। जिनकी कुंडली में पितृ दोष हो, उनको अवश्य अर्पण-तर्पण करना चाहिए। वैसे तो सभी के लिए अनिवार्य... आगे पढ़े

पितृ पक्ष कैलेंडर 2018

Updated on 24 September, 2018, 6:20
पितृ पक्ष कैलेंडर 2018  24 सितंबर 2018    सोमवार     पूर्णिमा श्राद्ध  25 सितंबर 2018    मंगलवार     प्रतिपदा श्राद्ध  26 सितंबर 2018    बुधवार     द्वितीय श्राद्ध  27 सितंबर 2018    गुरुवार     तृतीय श्राद्ध  28 सितंबर 2018    शुक्रवार     चतुर्थी श्राद्ध  29 सितंबर 2018    शनिवार     पंचमी श्राद्ध  30 सितंबर 2018    रविवार     षष्ठी श्राद्ध  1 अक्टूबर 2018    सोमवार    ... आगे पढ़े

पितरों से आशीष पाने का पक्ष है श्राद्ध

Updated on 23 September, 2018, 14:00
भाद्रपद माह की पूर्णिमा से अमावस्या तक का पक्ष 'महालय" श्राद्ध पक्ष कहलाता है। इस पक्ष में व्यक्ति की जिस तिथि को मृत्यु हुई है उस तिथि के दिन उस मृत व्यक्ति के पुत्र-पौत्रादि द्वारा उसका श्राद्ध किया जाता है। इस श्राद्ध भोज में पितरों को कई तरह के स्वादिष्ट... आगे पढ़े

अनंत चतुर्दशी 2018: जानिए भगवान विष्णु के अनंत स्वरूप की पूजा विधि और शुभ मुहूर्त

Updated on 23 September, 2018, 10:45
नई दिल्लीः भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी को अनंत चतुर्दशी का पर्व मनाया जाता है. अनंत चतुर्दशी पर भगवान विष्णु से अनंत फलों की इच्छा रखने वाले लोग उनके अनंत स्वरूप की पूजा करते हैं. अनंत चतुर्दशी को अनंत चौदस के नाम से भी जानते हैं. ऐसी मान्यता... आगे पढ़े

आखिर क्यों युधिष्ठिर के हाथ जला देना चाहते थे भीम?

Updated on 23 September, 2018, 7:00
महाभारत के मुख्य पात्र पांच पांडव भीम, अर्जुन, नकुल, सहदेव और युधिष्ठिर थे, जिनमें से सबसे बड़े युधिष्ठिर थे। सभी भाई अपने बड़े भ्राता का बहुत आदर करते थे। लेकिन क्या आप जानते हैं एक समय एेसा भी आया था जब भीम क्रोधित होकर अपने प्रिय भ्राता के हाथ अग्नि... आगे पढ़े

अनंत चतुर्दशी, जानें पूजन विधि और व्रत का महत्व

Updated on 23 September, 2018, 6:20
 भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष को अनन्त चतुर्दशी है, जो इस बार रविवार 23 सितंबर को मनाई जाएगी। अनंत का अर्थ होता है जिसका न आदि पता है और न ही अंत, अर्थात श्री हरि। इस व्रत में स्नानादि करने के पश्चात अक्षत, दूर्वा, शुद्ध रेशम या कपास के सूत... आगे पढ़े

क्षमा प्रार्थना के मंत्र के साथ, ऐसे करें गणेश प्रतिमा का विसर्जन

Updated on 22 September, 2018, 13:15
गणेश महोत्सव पूरे देश में धूम-धाम से मनाया जा रहा है। इसके साथ ही अब समय आ रहा है, जब गणेश जी का विसर्जन किया जाएगा। 10 दिनों तक हमारे घरों में विराजित रहने के बाद अब उन्हें विसर्जित किया जाएगा। मगर, कई लोगों को शायद यह जानकारी नहीं होगी... आगे पढ़े

24 सितंबर से शुरू हो रहे हैं श्राद्ध पक्ष, जानिए देश में कहां-कहां होता है पिंडदान

Updated on 22 September, 2018, 12:15
 24 सितंबर से श्राद्ध पक्ष शुरू हो रहे हैं। श्राद्ध का अर्थ है, अपने पितरों के प्रति श्रद्धा प्रगट करना। पुराणों के अनुसार, मृत्यु के बाद भी जीव की पवित्र आत्माएं किसी न किसी रूप में श्राद्ध पक्ष में अपनी परिजनों को आशीर्वाद देने के लिए धरती पर आते हैं।... आगे पढ़े

हाथ देखकर जानें, किस देवी देवता की पूजा से प्राप्‍त होगा उत्‍तम फल

Updated on 22 September, 2018, 6:40
सनातन धर्म में 33 करोड़ देवी-देवताओं की पूजा की जाती है। लेकिन ये आप कैसे जान पाएंगे किस देवता की पूजा करना आपके लिए अधिक मंगलकारी हो सकता है। इसका एक तरीका है आपकी हस्‍तरेखाएं। हस्‍तरेखाएं देखकर आप जान सकते हैं कि आपको किसकी पूजा करने से प्राप्‍त होगा शुभ... आगे पढ़े

मुहर्रम: कर्बला में ऐसा क्या हुआ था जिसका मातम मनाते हैं शिया

Updated on 21 September, 2018, 9:30
आज मुहर्रम का सबसे अहम दिन रोज-ए-आशुरा है. जब बात मुहर्रम की होती है तो सबसे पहले जिक्र कर्बला का किया जाता है. आज से लगभग 1400 साल पहले तारीख-ए-इस्लाम में कर्बला की जंग हुई थी. ये जंग जुल्म के खिलाफ इंसाफ के लिए लड़ी गई थी.  इस जंग में पैगंबर... आगे पढ़े

खुद ही इस तरह पाना होगा ज्ञान, गुरु के पीछे भागते रहने से नहीं मिलेगा

Updated on 21 September, 2018, 9:15
सीताराम गुप्ता गुरु का वास्तविक स्वरूप क्या है? क्या एक सशरीर व्यक्ति ही गुरु होने की पात्रता रखता है? विवेकानंद कहते हैं कि सच्चा गुरु अनुभव है। मनुष्य सच्चा ज्ञान अपने अनुभव से प्राप्त कर सकता है। किसी व्यंजन का स्वाद कैसा है, यह हमारी अपनी अनुभूति पर आधारित होता है।... आगे पढ़े

वामन जयंती आज, इस अवतार में भगवान विष्णु ने दिखाए ये 5 चमत्कार, ऐसे करें पूजा

Updated on 21 September, 2018, 6:20
भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की द्वादशी के दिन देशभर में वामन जयंती मनाई जाती है। इस बार यह पर्व 21 सिंतंबर, शुक्रवार को है। शास्त्रों के अनुसार, इस दिन भगवान विष्णु ने वामन के रूप में अपना पांचवा अवतार लिया था। द्वादशी तिथि को मनाए जाने के कारण इसे... आगे पढ़े

लालबाग चा राजा को सोने की गणेश की मूर्ति दान, 42 लाख है कीमत

Updated on 20 September, 2018, 12:00
मुंबई। 85 वर्ष के इतिहास में पहली बार मुंबई के लाल बाग चा राजा सार्वजनिक गणेशोत्सव मंडल को सोने के गणेश जी की मूर्ति गुप्त दान में मिली है। इस मूर्ति में जो मुकुट लगा है, उसकी कीमत एक लाख रुपए बताई गई है। कुल एक किलो 200 ग्राम वजन... आगे पढ़े

चाणक्य नीति: घर खरीदते समय रखें इन 5 बातों का ध्यान, नहीं तो होगा आपका नुकसान

Updated on 20 September, 2018, 9:15
आज के समय में घर बनाने में ही व्यक्ति के जीवनभर की कमाई खर्च हो जाती है। विष्णु पराण में भी बताया गया है कि कलियुग में मनुष्य जीवनभर कमाएग और घर बनाने में खर्च कर देगा। और वास्तव में स्थिति कुछ ऐसी ही है। जीवन भर की पूंजी खर्च करने... आगे पढ़े

श्राद्ध पक्ष 2018: आप स्वयं भी दे सकते हैं पितृों को तर्पण, यह है विधि

Updated on 20 September, 2018, 7:00
पितृों का तर्पण करने के लिए आप पुरोहित जी से अनुरोध कर सकते हैं। आप चाहें तो अपने पितृों का पूजन स्वयं भी कर सकते हैं। इसके लिए साफ-सुथरे स्थान पर कुश का आसन बिछाकर उस पर बैठें। कुश का आसन न मिले तो ऊन से बने हुए कपड़े का आसन... आगे पढ़े

पितृ पक्ष पर विशेष 

Updated on 20 September, 2018, 6:20
श्राद्ध कर्म कब, क्यों और कैसे करें ??? भारतीय शास्त्रों में ऐसी मान्यता है कि पितृगण पितृपक्ष में पृथ्वी पर आते हैं और 16 दिनों तक पृथ्वी पर रहने के बाद अपने लोक लौट जाते हैं। षोडश श्राद्ध अपने पितरों के लिए विशेष होता है । सामान्यतः पितृ क्रूर पृवत्ति का... आगे पढ़े

परिवर्तिनी एकादशी 2018: यहां जानें व्रत का महत्व, कथा और पूजा विधि

Updated on 20 September, 2018, 6:00
पद्म पुराण में वर्णित कथाओं के अनुसार, युधिष्ठिर ने भगवान श्रीकृष्ण से 1 साल में पड़नेवाली सभी 24 एकादशी के महत्व को विस्तार से समझाने की विनय की (जिस साल मलमास लगता है, उस साल 26 एकादशी होती हैं। )। इस पर वासुदेव ने उन्हें हर एकादशी का महत्व बताया।... आगे पढ़े

जब श्रीराम ने ऐसे करवाई माता कौशल्या को ज्ञान की प्राप्ति

Updated on 19 September, 2018, 14:00
एक दिन माता कौशल्या अपने पुत्र भगवान श्रीराम के पास जाकर बोली, ' हे राम ! तुम मुझे कुछ उपदेश दो, जिससे की मुझे कुछ ज्ञान प्राप्त हो।' माता के वाक्य सुनकर श्रीराम बोले, ' कल प्रात:काल आप गौशाला में जाकर वहां कुछ देर के लिए ठहरें और बछड़ों के... आगे पढ़े

Market Live

18+