Saturday, 24 February 2018, 11:27 AM

धर्म कर्म

26 फरवरी को है रंगभरी एकादशी, जानें काशी से जुड़ा इसका खास महत्व

Updated on 24 February, 2018, 8:00
फाल्गुन शुक्ल की एकादशी को रंगभरी एकादशी कहा जाता है और यह 26 जनवरी को है। रंगभरी एकादशी पर काशीपुराधिपति देवाधिदेव महादेव बाबा विश्वनाथ को दूल्हे के रूप में सजाया जाता है और उन्हें मां गौरा को गौने पर लाया जाता है। इस बार गौना बारात में महादेव खादी से... आगे पढ़े

यहां मनाई जाती है दुनिया की सबसे बड़ी होली? दिल्ली से 12 हजार KM दूर

Updated on 23 February, 2018, 12:00
रंगो का त्योहार होली दुनियाभर में मशहूर है. अमेरिका में इसे 'फेस्टिवल ऑफ कलर' के नाम से मनाया जाता है. यहां के शहर स्पैनिश फोर्क में बनी इस्कॉन टेम्पल में होली बहुत बड़े स्तर पर मनाई जाती है. राधा-कृष्ण के मंदिर में मनाए जाने वाले 'फेस्टिवल ऑफ कलर' के प्रवक्ता के... आगे पढ़े

शिव-पार्वती के निवास स्थान 'कैलाश मानसरोवर' की यात्रा का पंजीकरण शुरू

Updated on 23 February, 2018, 7:20
कैलाश पर्वत भारत में स्थित एक पर्वत श्रेणी है। यह हिमालय के केंद्र में है। कैलाश पर्वत वह पवित्र जगह है, जिसे शिव-पार्वती का धाम माना जाता है। इस पर्वत के पश्चिम तथा दक्षिण में मानसरोवर तथा रक्षातल झील हैं। यहां से कई महत्वपूर्ण नदियां निकलतीं हैं जैसे ब्रह्मपुत्र, सिंधु,... आगे पढ़े

आज का पंचांग: 23 फरवरी, 2018 शुक्रवार फाल्गुन शुक्ल तिथि अष्टमी

Updated on 23 February, 2018, 5:15
23 फरवरी, 2018 शुक्रवार फाल्गुन शुक्ल तिथि अष्टमी (23-24 मध्य रात 12.44 तक) विक्रमी सम्वत् : 2074, फाल्गुन प्रविष्टे: 12, राष्ट्रीय शक सम्वत्: 1939, दिनांक: 4 (फाल्गुन), हिजरी साल: 1439, महीना: जमादि-उल्सानी, तारीख: 6, सूर्योदय: 7.06 बजे, सूर्यास्त: 6.17 बजे (जालंधर समय), नक्षत्र: कृतिका (दोपहर 12.43 तक), योग: वैधृति (23-24 मध्य... आगे पढ़े

ज्ञान के बल पर हर तरह की संपन्नता को सरलता से प्राप्त किया जा सकता

Updated on 22 February, 2018, 7:00
प्राचीन समय की बात है महर्षि आयोदधौम्य अपनी तपस्या और उदारता के लिए बेहद प्रसिद्ध थे। वे वैसे तो बाहर से अनुशासनप्रिय एवंं अति कठोर थे, परंतु भीतर से अपने शिष्यों के प्रति असीम स्नेह रखते थे। उनका मक्सद अपने शिष्यों का सुयोग्य बनाना था, जिसके के कारण वह उनके... आगे पढ़े

माता-पिता, गुरु एवं श्रेष्ठजनों के प्रति कर्तव्य

Updated on 21 February, 2018, 9:00
हमारे धर्म शास्त्रों में मनुस्मृति का स्थान सबसे महत्वपूर्ण है और इसके रचयिता राजर्षि मनु के विचार सर्वमान्य हैं। माता-पिता, गुरुजनों एवं श्रेष्ठजनों को सर्वदा प्रणाम, सम्मान और सेवा करने के संबंध में मनुस्मृति का (2/121) का यह श्लोक अनुकरणीय है- अभिवादनशीलस्य नित्यं वृद्धोपसेविन:।  चत्वारि तस्य वद्र्धन्ते आयुॢवद्या यशोवलम्।।  अर्थात: वृद्धजनों (माता-पिता, गुरुजनों... आगे पढ़े

कान्हा की नगरी मथुरा-वृंदावन में कुछ इस तरह मनाई जाती है होली

Updated on 21 February, 2018, 7:20
2 मार्च को पूरे देश में होली का त्यौहार मनाया जाएगा। देश भर में होली का उत्सव बड़े ही उत्साह के साथ मनाया जाता है। लेकिन कान्हा कि नगरी में बसंत पंचमी से ही होली का महोत्सव शुरू हो जाता है। इस वर्ष भी 22 जनवरी से ही यहां होली... आगे पढ़े

श्रीमद्‍भगवद्‍गीता: बात-बात पर तनाव को स्वयं पर न होने दें हावी

Updated on 20 February, 2018, 7:40
प्रसादे सर्वदु:खानां हानिरस्योपचायते। प्रसन्नचेतसो ह्याशु बुद्धि: पर्यवतिष्ठते।। गीता 2/65 प्रसादे, सर्वदु:खानाम्, हानि, अस्य, उपजायते, प्रसन्नचेतस: हि, आशु, बुद्धि:, पर्यवतिष्ठते।। भावार्थ: मन शांत और प्रसन्न रहे। जल्दी से परेशान होने का स्वभाव नहीं। मानसिक प्रसन्नता में अनेक प्रकार के दुखों की हानि स्वाभाविक होने लगती है तथा बुद्धि भी स्थिर रहती है।  अंत: करण की प्रसन्नता... आगे पढ़े

कब मनुष्य होता है जन्म-मरण के बंधन से मुक्त?

Updated on 19 February, 2018, 8:00
योगगुरु सुरक्षित गोस्वामी  यत्र काले त्वनावृत्तिमावृत्तिं चैव योगिन:|  प्रयाता यान्ति तं कालं वक्ष्यामि भरतर्षभ|| गीता 8/23||  अर्थ: हे भरत श्रेष्ठ! जिस काल में प्रयाण करने वाले योगीजन वापस नहीं आते और जिसमें वापस आते हैं, उन दोनों काल के बारे में बताता हूं।  व्याख्या: सभी प्राणी अपने कर्मों के हिसाब से जन्म-मरण भोगते रहते... आगे पढ़े

तुलसी व रुद्राक्ष की माला पहनकर यहां व्रत करने वाले की हर मनोकामना होती है पूरी

Updated on 19 February, 2018, 7:00
केरल की राजधानी तिरुवनंतपुरम से 175 कि.मी दूरी पर पंपा, से चार कि.मी की दूरी पर पश्चिम घाट से सह्यपर्वत श्रृंखलाओं के घने वनों के बीच, समुद्रतल से लगभग 1000 मीटर की ऊंचाई पर सबरीमाला मंदिर स्थित है। मक्का-मदीना के बाद यह दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा तीर्थ माना जाता... आगे पढ़े

सूर्य ग्रहण हुआ खत्म, जरूर करें ये 5 काम!

Updated on 16 February, 2018, 5:30
ज्योतिष में ग्रहण का विशेष महत्व माना गया है. साल का पहला सूर्यग्रहण 16 फरवरी को लगा. भारतीय समय के अनुसार यह रात्रि 00.25 से 04.17 तक रहा. इस ग्रहण की कुल अवधि लगभग 03 घंटे 52 मिनट थी.  ज्योतिष में ग्रहण को अशुभ और हानिकारक प्रभाव वाला माना जाता... आगे पढ़े

आज रात लगेगा सूर्य पर ग्रहण, इन राशियों को होगा लाभ ही लाभ

Updated on 15 February, 2018, 21:00
साल 2018 में कुल तीन सूर्य ग्रहण घटित होंगे. ये तीनों आंशिक सूर्य ग्रहण होंगे. भारत में ये तीनों ग्रहण दिखाई नहीं देंगे लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि आप पर इस ग्रहण का प्रभाव नहीं पड़ेगा. ये तीनों सूर्य ग्रहण दक्षिण अमेरिका, अटलांटिक और अंटार्कटिका के क्षेत्रों में... आगे पढ़े

उन्हें था कृष्ण भक्ति का घमंड, गरीब ने यूं उतार दिया

Updated on 15 February, 2018, 8:20
महाभारत द्वेष, ईर्ष्या, अहंकार, अपमान और बदले की आग में सब कुछ भस्म कर देने वाला, साथ ही दर्द और दुख के समुंदर की कथा है तो मान-सम्मान, स्वाभिमान और जीवन को जीने की कला देने वाला एक अद्भुत कथानक भी है। हस्तिनापुर और इंद्रप्रस्थ के महापुरूषों को राजकुल में पले-बढ़े... आगे पढ़े

इस तरह हुआ था सूर्य का जन्म और आई पहली किरण धरती पर

Updated on 15 February, 2018, 7:00
मान्यता है कि सूर्य देवता को रोजाना जल चढ़ाने से व्यक्ति को आरोग्य की प्राप्ति होती है और वह दीर्घायु होता है। सारे जगत का निर्माण करने वाले ब्रह्माजी ने ही सूर्य की भी रचना की।  सृष्टि के आरंभ में ब्रह्माजी के मुख से ऊं शब्द प्रकट हुआ। तब सूर्य का... आगे पढ़े

2018 का पहला सूर्यग्रहण नहीं दिखेगा भारत में, राशियों पर प्रभाव

Updated on 14 February, 2018, 23:15
वर्ष 2018 का पहला सूर्यग्रहण भारत में नहीं दिखेगा। भारतीय समय के मुताबिक यह ग्रहण 15 फरवरी की रात 12 बजकर 25 मिनट पर शुरू होगा और 16 फरवरी की सुबह 4 बजे इसका मोक्ष होगा। ये सूर्य ग्रहण कुंभ राशि और धनिष्‍टा नक्षत्र में पड़ेगा। ये साल 2018 का... आगे पढ़े

15 फरवरी को पड़ रहा है पहला सूर्यग्रहण, यह है ग्रहण का समय

Updated on 14 February, 2018, 17:30
साल 2018 का पहला सूर्य ग्रहण 15 फरवरी 2018 को पड़ेगा। बता दें कि जनवरी 2018 में आए चंद्र ग्रहण के बाद अमावस्या को सूर्य ग्रहण पड़ेगा। सूर्य ग्रहण के 12 घंटे पहले सूतक लग जाते हैं और इस दौरान कुछ कामों को करने की मनाही होती है। यह सूर्य... आगे पढ़े

शिव-महाकाली की इस कथा से मिलती है ये सीख

Updated on 14 February, 2018, 9:00
शिवरात्रि का दिन एक पावन दिन माना जाता है। हिंदू धर्म में मानने वाले लोगों के लिए यह पर्व बहुत ही महत्वपूर्ण माना जाता है। मान्यता अनुसार इस दिन भगवान शंकर व मां पार्वती का विवाह हुआ था। शिव-पार्वती के मिलन के इस दिन को इनके भक्त उनकी वर्षगांठ के... आगे पढ़े

शिवरात्रि पर शिव शंकर को करना चाहते हैं प्रसन्न, तो इस रंग के वस्त्रों को न करें धारण

Updated on 14 February, 2018, 8:20
फाल्गुन कृष्ण चतुर्दशी को मनाया जाने वाले महाशिवरात्रि पर्व के दिन को लेकर मान्यता प्रचलित है कि इस दिन सृष्टि के प्रारंभ में मध्यरात्रि को भगवान शंकर का ब्रह्मा से रुद्र के रूप में अवतरण हुआ था। भगवान भोलेनाथ एक ऐसे देवता है जो सहज ही प्रसन्न हो जाते हैं।... आगे पढ़े

दोहरा संयोगः भगवान शिव के प्रिय नक्षत्र में हो रही 14 फरवरी को महाशिवरात्रि

Updated on 13 February, 2018, 22:00
लखनऊ। 14 फरवरी को महाशिवरात्रि पर शुभ संयोग है। इस दिन महाशिवरात्रि का व्रत-उपवास करने वालों को तिथि और तारीख का अद्भुत और दुर्लभ संयोग मिलेगा। इस दिन तिथि भी 14 होगी और तारीख भी। साथ ही 14 फरवरी को भगवान शिव का प्रिय नक्षत्र श्रावणी है। इस नक्षत्र में... आगे पढ़े

महाशिवरात्रि पर जानिए भगवान शंकर के जन्म से जुड़े रहस्य

Updated on 13 February, 2018, 13:00
देशभर में महाशिवरात्रि के त्यौहार की धूम है। मंदिरों में सुबह से ही भगवान शिव के अभिषेक और दर्शनों के लिए भारी भीड़ नजर आने लगी है। आज भगवान शिव का विवाह है और भक्त उसमें हिस्सा लेने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। इस मौके पर हम बताएंगे... आगे पढ़े

ये है सज्जन लोगों का असली आभूषण, जानें इस मामले में आप कितने हैं धनवान

Updated on 12 February, 2018, 7:00
मनुष्य में जब तक मानवीय गुणों का समावेश न हो, तब तक वह सच्चे अर्थों में मनुष्य नहीं कहला सकता। इसीलिए मनीषियों ने मनुष्य को ‘मनुर्भव-मनुष्य ’ बनने के लिए कहा है। जीवनचर्या में मानवीय गुणों का समावेश करके ही आदर्श मनुष्य बना जा सकता है। मानवता के कुछ महत्वपूर्ण... आगे पढ़े

महाशिवरात्रि: भोले बाबा के भक्तों के लिए विशेष चेतावनी

Updated on 12 February, 2018, 6:45
महाशिवरात्रि के दिन किए गए अनुष्ठानों, पूजा व व्रत का विशेष लाभ मिलता है। इस दिन चंद्रमा क्षीण होगा और सृष्टि को ऊर्जा प्रदान करने में अक्षम होगा। इसलिए आलौकिक शक्तियां प्राप्त करने का यह सर्वाधिक उपयुक्त समय होता है, जब ऋद्धि-सिद्धि प्राप्त होती है। इस व्रत से साधकों को... आगे पढ़े

शिवरात्रि : योगी की सांसारिक यात्रा की शुरुआत

Updated on 11 February, 2018, 12:15
'शिव का अर्थ है-कल्याण या भलाई। शिव विश्व के कल्याणकर्ता यानी भलाई करने के देव हैं। संसार के सभी धर्मों में भगवान शिव का स्थान सबसे अलग और अति विशेष है। इसी प्रकार 'शंकर" का अर्थ है-मिलकर, मिला-जुला या समन्वयकारी। इस प्रकार शिव विश्व कल्याण के लिए समन्वय के महादेव... आगे पढ़े

11-12 फरवरी को करें ये काम, कष्ट एवं परेशानियों को मिट जाएगा नामोनिशान

Updated on 11 February, 2018, 7:40
फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी विजया नाम से प्रसिद्घ है। इस बार यह एकादशी 11 फरवरी को होगी। इस व्रत का पालन करने से जीव के सभी कष्ट एवं परेशानियां जहां मिट जाती हैं वहीं उसे प्रत्येक कार्य में सफलता भी प्राप्त होती है। जैसा कि इस एकादशी... आगे पढ़े

शिवपुराण: कौन से पुष्‍प हैं शिवजी को सबसे प्रिय

Updated on 10 February, 2018, 7:20
महाशिवरात्रि पर पूजा करने के लिए भक्तों को विशेष प्रकार की सामग्री की आवश्यकता होती है। इन सब में फूलों का विशेष स्थान होता है। शिवपुराण में बताया गया है कि भगवान शिव की पूजा करने के लिए कई प्रकार के फूल प्रयोग किए जाते हैं। आइए जानते हैं किस... आगे पढ़े

16 फरवरी को पड़ रहा है साल का पहला सूर्य ग्रहण, जानें किन बातों की रखें सावधानी

Updated on 9 February, 2018, 13:00
इस साल का दूसरा ग्रहण और पहला सूर्यग्रहण 16 फरवरी को लगने वाला है। यह ग्रहण15 फरवरी (गुरुवार) की रात 12.25 मिनट से लगेगा, जो कि सुबह प्रात: 4.18 तक रहेगा। ऐसे में यह 16 फरवरी को लगेगा, पर भारत में रात होने के कारण यह यहां दिखाई नहीं देगा। ज्योतिषों... आगे पढ़े

इस कारण कुरुक्षेत्र में लड़ा गया था महाभारत का युद्ध

Updated on 9 February, 2018, 7:00
भरतवंश में महाभारत के अनुसार जिस धरती को राजा कुरु द्वारा बार-बार जोता गया, वह स्थान कुरुक्षेत्र कहलाया। राजा कुरु को देवराज इंद्र ने वरदान दिया था कि जो भी व्यक्ति इस स्थान पर युद्ध करते हुए मरेगा, उसे स्वर्ग की प्राप्ति होगी। यही कारण है कि महाभारत का युद्ध... आगे पढ़े

करते हैं मां का अपमान, तो यह ग्रह देगा दंड

Updated on 6 February, 2018, 13:00
भारतीय संस्कृति में मां को सर्वोच्च स्थान दिया गया है। मां के बगैर जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती है और मां से ही जगत का सार है। इसलिये मां के सम्मान से ही व्यक्ति के दुख-सुख की कल्पना की जाती है।इसी तरह ग्रहों का हमारे जीवन से प्रत्यक्ष... आगे पढ़े

शिवरात्रि पर न करें ये पाप, वर्ना जिदंगी भर रहना पड़ेगा शिव की कृपा से वंचित

Updated on 6 February, 2018, 7:00
हिंदू देवी-देवताओं में भगवान शिव शंकर सबसे लोकप्रिय देवता हैं, वे देवों के देव महादेव हैं तो असुरों के भी ईष्ट हैं। दुनिया भर में हिंदू धर्म के अनुयायी भगवान शिव को पूज्य मानते हैं। इनकी पूजा आराधना की विधि बहुत सरल है। शास्त्रों के अनुसार भोलनाथ को यदि सच्चे... आगे पढ़े

सोमवार से शुरू हो गई है शिवनवरात्रि, महाकाल मंदिर में होगी काल सर्प शांति

Updated on 5 February, 2018, 13:00
उज्जैन। महाकाल मंदिर में शिवनवरात्रि पर्व सोमवार से मनाया जाएगा। इस दिन से बाबा महाकाल दूल्हा बनेंगे। 13 फरवरी तक राजाधिराज महाकाल को अलग-अलग वस्त्र, आभूषण, मुकुट, मुण्डमाल, छत्र आदि से शृंगारित किया जाएगा। 13-14 की मध्यरात्रि को राजाधिराज सेहरा धारण करेंगे। बताते चलें कि शिव नवरात्रि की शुरुआत भगवान महाकाल... आगे पढ़े

Market Live

18+